झुग्गी बस्तियों की मैपिंग से क्या होगा | पर्यावरण | DW | 30.06.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

पर्यावरण

झुग्गी बस्तियों की मैपिंग से क्या होगा

साफ सुथरे पर्यावरण के रास्ते में सबसे बड़ा रोड़ा गरीबी है. भारत के करोड़ों गरीब लोग झुग्गियों में रहते हैं, जिनके पास ना तो साफ पानी की सुविधा होती है, ना ही इलाज कराने की. इन लोगों तक बुनियादी सुविधाएं पहुंचाना काफी मुश्किल भी है क्योंकि इनका पता भी कहीं रजिस्टर नहीं होता है. महाराष्ट्र के कोल्हापुर में एक आर्किटेक्ट ऐसे लोगों की मदद कर रही है.

वीडियो देखें 06:40

और पढ़ें