ज्यादा खाओगे, भूलने लग जाओगे | विज्ञान | DW | 17.12.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

ज्यादा खाओगे, भूलने लग जाओगे

अगर ज्यादा खाओगे, तो मोटे हो जाओगे, ये तो सुना था, पर ज्यादा खाने का भूलने से क्या लेना देना? ताजा रिसर्च बताती है कि जंक फूड याददाश्त कमजोर कर सकता है.

ऑस्ट्रेलिया में चूहों पर हुई रिसर्च में देखा गया कि ज्यादा वसा और ज्यादा चीनी वाली चीजें खाने के बाद उनकी याददाश्त कमजोर होने लगी. और ऐसा होने में बहुत ज्यादा वक्त भी नहीं लगा. एक हफ्ते के अंदर ही वे भूलने लगे. शोध करने वाली न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी की मार्गरेट मॉरिस ने कहा, "हम यह देख कर हैरान हैं कि यह कितनी तेजी से असर करता है."

इस रिसर्च के लिए चूहों को केक, बिस्किट और ऐसा जंक फूड खिलाया गया, जो आम तौर पर दफ्तर या कॉलेज की कैंटीन में मिलता है. साथ ही उन्हें खूब चीनी वाले ड्रिंक भी पिलाए गए. उन्हें सामान्य से पांच गुना ज्यादा कैलोरी दी गई.

हैरानी की बात यह थी कि चूहों का वजन तो बाद में बढ़ा, लेकिन उनके दिमाग पर असर फौरन होने लगा. मॉरिस ने कहा, "हम उम्मीद करते हैं कि इन नतीजों का लोगों पर असर होगा क्योंकि इन दिनों लोग यही सब खा रहे हैं. सस्ता, चटपटा खाना जो हर जगह मिल जाता है."

रिसर्च के दौरान देखा गया कि चूहों के दिमाग का हिपोकैम्पस हिस्सा फूलने लगा. यह हिस्सा समझदारी के लिए जिम्मेदार होता है. मॉरिस ने बताया, "हम फिलहाल इसे सिद्ध नहीं कर सकते कि यह कैसे हो रहा है, पर हिपोकैम्पस जितना बड़ा होता जाएगा, याददाश्त उतनी ही कमजोर होती रहेगी." मॉरिस ने कहा कि अभी इस बात को समझने में थोड़ा वक्त लगेगा कि क्या हिपोकैम्पस का इलाज कर याददाश्त वापस लाई जा सकती है, या फिर क्या कसरत से कोई फर्क पड़ सकता है.

दो साल पहले इस तरह की एक रिसर्च ब्रिटेन में भी की गई. उस समय चूहों की जगह इंसानों पर ही शोध किया गया. नतीजों में देखा गया कि पांच दिन लगातार जंक फूड खाने के बाद लोगों की प्रतिक्रियाओं का समय बढ़ने लगा.

तो अगली बार जब बर्गर या चिप्स खाएं, तो इस बारे में जरूर सोचें कि बढ़ा हुआ वजन तो कम किया जा सकता है, लेकिन खोई हुई याददाश्त शायद कभी न लौटे.

आईबी/एजेए (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन