जर्मन कंपनी की टीशर्ट से हुआ चीनी लोगों का ′अपमान′ | मनोरंजन | DW | 10.03.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

जर्मन कंपनी की टीशर्ट से हुआ चीनी लोगों का 'अपमान'

ऑनलाइन शॉपिंग साइटों पर बिक रही एक जर्मन कंपनी की टी शर्ट को लेकर विवाद छिड़ गया है. बर्लिन स्थित चीनी दूतावास ने इस पर लिखे संदेशों को चीनी लोगों के लिए अपमानजनक बताया है.

चीनी दूतावास ने जर्मनी से इन 'अपमानजनक' टीशर्टों की बिक्री तुरंत रोकने की मांग की है. दूतावास में कार्यरत चीन के अधिकारियों ने इस जर्मन कंपनी से टीशर्ट के बारे में माफी मांगने को भी कहा है. चीनी अधिकारियों का मानना है कि यह टीशर्ट्स चीनी लोगों का अपमान करती हैं.

चीनी दूतावास ने चेतावनी भी दी है कि इससे दोनों देशों के बीच संबंध खराब हो सकते हैं. एक क्लोदिंग लाइन के कारण दोनों सहयोगी देशों के बीच नया डिप्लोमैटिक बखेड़ा खड़ा होने की नौबत आ सकती है. शुक्रवार को बर्लिन स्थित चीनी दूतावास ने दोहराया कि जर्मन कंपनी 'स्प्रेडशर्ट'  इन शर्ट्स को बेचना रोके. उन टी शर्ट्स पर अंग्रेजी में स्लोगन लिखे हैं, जैसे "कुत्ता बचाओ, चाइनीज खाओ" और "शार्क बचाओ, चाइनीज खाओ." कुछ टी शर्ट्स पर दो चाइनीज अंदाज वाले कैरेक्टर सेक्स करते दिखाए गए हैं और उस पर लिखा है "अब मैं चाइनीज समझता हूं."

इससे नाराज होकर चीनी दूतावास ने एक बयान जारी कर बेवसाइट से इन टी शर्ट्स की बिक्री रोकने और आधिकारिक तौर पर माफी मांगने को कहा है. चीनी बयान में लिखा है, "साथ ही, हम जर्मन सुपरवाइजरी अथॉरिटी से मांग करते हैं कि वे अपनी ड्यूटी निभाएं और इस कंपनी के व्यापार से जुड़े क्रियाकलापों और वेबसाइट पर ध्यान दें, ताकि दोनों देशों के लोगों के बीच व्याप्त दोस्ताना भावनाओं को नुकसान ना पहुंचे." इसके अलावा बयान में द्विपक्षीय व्यापारिक और आर्थिक संबंधों के भविष्य को लेकर भी चेतावनी दी गयी है. कंपनी 'स्प्रेडशर्ट' जर्मनी के लाइपजिष शहर से चलती है.

आरपी/ओएसजे (एपी)

DW.COM