जर्मन एकीकरण की वर्षगांठ इस बार माइंस में | दुनिया | DW | 03.10.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मन एकीकरण की वर्षगांठ इस बार माइंस में

जर्मनी आज एकीकरण की 27वीं वर्षगांठ मना रहा है. एकीकरण समारोह यूं तो पूरे देश में हो रहे हैं लेकिन हर साल किसी और राज्य में होने वाला मुख्य समारोह राइनलैंड पलैटिनेट की राजधानी माइंस में हो रहा है.

इस साल के एकीकरण दिवस का नारा है, साथ हम सब जर्मनी हैं. माइंस में समारोहों की शुरुआत सोमवार को ही हो गयी जिसका मुख्य आकर्षण पूर्वी जर्मनी का रॉक बैंड कराट का प्रदर्शन था. आज दिन के दौरान औपचारिक समारोह हो रहे हैं जिनमें राष्ट्रपति फ्रांक वाल्टर श्टाइमायर और चांसलर अंगेला मैर्केल भी भाग ले रही हैं. उन्होंने माइंस कैथीड्रल में एक सर्वधर्म प्रार्थनासभा में भाग लिया. शांतिपूर्ण एकीकरण से संबंधित विभिन्न समारोहों में 5,00,000 लोगों के भाग लेंगे.

राइन नदी के किनारे जर्मनी के सभी 16 प्रांतों ने अपनी प्रदर्शनी लगायी है जिसका नारा है "साथ हम सब जर्मनी हैं." यहां विभाजन का प्रतीक रहे बर्लिन के ब्रांडेनबुर्ग गेट का नमूना भी बनाया है.

सुरक्षा चिंता

पिछले दिनों फ्रांस और कनाडा के आतंकी हमलों के बाद जर्मनी में सुरक्षा की चिंता जतायी जा रही है. अधिकारियों ने सुरक्षा को बड़ी प्राथमिकता दी है और करीब 4,300 पुलिसकर्मियों को तैनात किया है. पश्चिमी सहबंध का साथी होने के अलावा अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद विरोधी अभियानों में हिस्सेदारी के कारण जर्मनी भी इस्लामी आतंकवादियों के निशाने पर है.  

जर्मनी के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर देश भर में करीब 1,000 मस्जिदों ने अपने दरवाजे आम लोगों के लिए खोल दिये हैं. इनमें जर्मनी के सबसे बड़े इस्लामी संगठन डिटिब की कोलोन की मस्जिद भी शामिल है.

एमजे/ओएसजे (डीपीए, एएफपी)

संबंधित सामग्री

विज्ञापन