चुनाव के दौरान रिलीज नहीं होगी मोदी पर बनी फिल्म | भारत | DW | 10.04.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

चुनाव के दौरान रिलीज नहीं होगी मोदी पर बनी फिल्म

चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बनी फिल्म के रिलीज पर रोक लगा दी है. "पीएम नरेंद्र मोदी" नाम की इस फिल्म पर आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप लग रहे थे.

चुनाव आयोग ने "पीएम नरेंद्र मोदी" फिल्म से उपजे विवाद में कहा, कोई भी बायोपिक "जो चुनाव के दौरान समान अवसरों के स्तर को संभावित रूप से छेड़े उसे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर नहीं दिखाया जाना चाहिए." फिल्म 11 अप्रैल को पहले चरण के मतदान के दिन रिलीज होनी थी.

आयोग ने अपने आदेश में यह भी कहा कि, यह जरूरी है कि "मीडिया की ताकत का इस्तेमाल इस तरह से नहीं किया जाए कि आचार संहिता पर असर पड़े." इस मामले पर किसी भी तरह की शिकायत की समीक्षा अब सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट के रिटायर जज की अगुवाई वाला पैनल करेगा.

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक के रिलीज पर रोक लगाने के लिए कांग्रेस पार्टी सुप्रीम कोर्ट भी गई थी. कांग्रेस का आरोप है कि यह फिल्म कला की अभिव्यक्ति के बजाए, राजनीतिक इरादे से प्रेरित है. सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस की याचिका को खारिज करते हुए कहा कि "इस तरह के गैरवाजिब मुद्दे पर अदालत का काफी समय बर्बाद होता है." सर्वोच्च अदालत ने कहा कि फिल्म से जुड़ी जो भी आपत्तियां हैं उन पर फैसला लेने का अधिकार चुनाव आयोग का है.

आचार संहिता पर चुनौतियों से जूझता चुनाव आयोग

क्या आचार संहिता से परे है नमो टीवी?

सुप्रीम कोर्ट के इनकार के कुछ ही घंटों बाद बुधवार को सेंसर बोर्ड ने फिल्म को सर्टिफिकेट दे दिया और रिलीज की तैयारी होने लगी. फिल्म में नरेंद्र मोदी का किरदार निभाने वाले एक्टर विवेक ओबरॉय हाल के दिनों में मीडिया में भी काफी सक्रिय नजर आए. वह फिल्म को लेकर जताई जा रही आपत्तियों को खारिज करते रहे. डायरेक्टर उमंग कुमार की इस फिल्म का ट्रेलर पहले ही जारी किया जा चुका है.

चुनाव आयोग के आदेश में यह साफ नहीं है कि फिल्म के ट्रेलर पर भी रोक है या नहीं. भारत में सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनावों में 19 मई को मतदान प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी. "पीएम नरेंद्र मोदी" उसके बाद ही सिनेमाघरों में दिखाई जा सकेगी.

ओएसजे/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन