चीन में विश्व कप के झंडे | खेल | DW | 28.02.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चीन में विश्व कप के झंडे

कोई 50 लाख झंडे बनाने हैं और वक्त बहुत कम है. चीन की एक फैक्ट्री को दिन रात काम करना पड़ता है. मुकाबला भले ही ब्राजील में हो रहा हो, झंडे तो मेड इन चाइना ही हैं.

ली मिहुआ चीन के झेजियांग प्रांत में एक फैक्ट्री चलाती हैं. यहां 1999 से सभी यूरोपीय चैंपियनशिप और विश्व कप के लिए झंडे बनते हैं. ग्राहक ज्यादातर यूरोप के देशों से हैं. ली कहती हैं, "हमें करीब 50 लाख झंडों का ऑर्डर मिला है. लेकिन ब्राजील से 20 फीसदी ऑर्डर भी नहीं है. जर्मनी और ब्रिटेन से भारी मांग है. वहां से करीब 80 फीसदी ऑर्डर आ रहे हैं."

जिनहुआ शहर में उनकी कंपनी की बिक्री इस साल 13 लाख डॉलर से ज्यादा की हो गई. उनका कहना है कि अगर बीच में वित्तीय मंदी न आई होती, तो यह और ज्यादा हो सकती थी, "इस साल विश्व कप के दौरान हमारी बिक्री 2010 वाले दक्षिण अफ्रीकी विश्व कप जितनी अच्छी नहीं है. यह 10 से 15 फीसदी कम होने वाली है. ब्राजील की आर्थिक मंदी भी इसकी एक वजह है."

ली को विश्व कप झंडों का पहला ऑर्डर पिछले साल के शुरू में मिला था, जब ब्राजील की एक कंपनी ने उन्हें 20 लाख झंडे बनाने को कहा. इसके बाद यूरोपीय देशों से सितंबर में ढेरों ऑर्डर मिले.

इस फैक्ट्री में सात साल से काम कर रहे हू आइलान को उम्मीद है कि आने वाले महीनों में अचानक मंग बढ़ सकती है. उनका कहना है, "हम बहुत ज्यादा व्यस्त हैं. अब हमें कई देशों के राष्ट्रीय झंडों पर काम करना पड़ रहा है. हमें ओवरटाइम करना पड़ रहा है. हम पहले से बहुत ज्यादा व्यस्त हैं क्योंकि ब्राजील में वर्ल्ड कप आ रहा है."

जून की 12 तारीख को 2014 का फुटबॉल विश्व कप शुरू होने वाला है, जो महीने भर चलेगा. पहला मैच मेजबान ब्राजील और यूरोपीय देश क्रोएशिया के बीच साओ पाओलो में खेला जाएगा.

एजेए/ओएसजे (रॉयटर्स)

संबंधित सामग्री