चीन में फ्रोजन चिकन विंग्स में मिला कोरोना | दुनिया | DW | 13.08.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

चीन में फ्रोजन चिकन विंग्स में मिला कोरोना

चीन के अधिकारियों का कहना है कि ब्राजील से आए फ्रोजन चिकन विंग्स में कोरोना वायरस मिला है. क्या यह जानकारी वायरस को लेकर हमारी सोच बदल सकती है?

दक्षिणी चीन के शेनझेन शहर के प्रशासन का दावा है कि बुधवार को फ्रोजन चिकन विंग्स की एक खेप की जांच की गई. ब्राजील से आई चिकन विंग्स में सतह पर कोरोना वायरस मिला.

शेनझेन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने चिकन विंग्स की इस खेप के संपर्क में आए संभावित लोगों को ट्रेस और टेस्ट किया. जांच में सारे नतीजे नेगेटिव आए. स्टॉक के साथ आए दूसरे उत्पादों में भी कोरोना वायरस नहीं मिला.

शहर का प्रशासन अब उस ब्रांड के प्रोडक्ट्स की तलाश कर रहा है, जिसमें कोरोना वायरस मिला है. जिन जिन जगहों पर संक्रमित चिकन विंग्स को स्टोर किया गया था, उन्हें डिसइंफेक्ट किया जा रहा है.

Brasilien Hähnchenfleisch (Getty Images/AFP/Y. Chiba)

ब्राजील का चिकन प्रोडक्ट

चीन के सरकारी प्रसारक सीसीटीवी का कहना है कि इससे पहले आनहुई प्रांत के रेस्तरां में इक्वाडोर से आए फ्रोजन झींगों में भी कोरोना वायरस मिला था. ब्राजील में अब तक कोरोना वायरस के 31 लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका के बाद ब्राजील ही कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित है.

कोरोना वायरस 2019 के आखिर में चीन में फैला. वायरस का स्रोत वुहान शहर का एक मीट मार्केट था. मीट मार्केट में वन्य जीवों का मांस बेचा जाता था. फरवरी मार्च आते आते कोरोना वायरस लगभग पूरी दुनिया में फैल गया. और अब भी इससे कोई राहत नहीं मिल रही है.

वहीं चीन ने मई में कोरोना वायरस को काबू में करने का दावा किया. लेकिन न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया की तरह ही चीन में भी कोविड-19 के नए मामले सामने आ रहे हैं.

कोरोना वायरस से अब तक दुनिया भर में दो करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. बीते आठ महीनों में वायरस साढ़े सात लाख लोगों की जान ले चुका है. सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका, ब्राजील, मेक्सिको और भारत में हो रही हैं.

ओएसजे/एमजे (रॉयटर्स)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन