चीन बनाएगा सबसे लंबा हाई स्पीड रेलवे ट्रैक | दुनिया | DW | 13.06.2011
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

चीन बनाएगा सबसे लंबा हाई स्पीड रेलवे ट्रैक

चीन में दुनिया की सबसे लंबी हाई स्पीड रेलवे लाइन बनाने की योजना शुरू हो रही है. 34.1 अरब डॉलर की लागत से बनने वाला यह ट्रैक 1,318 किलोमीटर लंबा होगा. इस पर तेज रफ्तार ट्रेनें 300 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ेंगी.

Chinese railway employees cleans the new high-speed CRH3 train as its arrived at the Tianjin Railway Station, China, during a trial run on the new Beijing-Tianjin line, Tuesday, July 22, 2008. A new high speed train link between Beijing and Tianjin, where Olympic soccer matches will be played, is scheduled to open on Aug 1. The train, which can run at speeds up to 350 kph, will cut the travel time between the two Olympic cities from 1 hour, 10 minutes to 25-30 minutes. (AP Photo/Andy Wong)

इसी महीने बीजिंग से चीन की वित्तीय राजधानी शंघाई को जोड़ने वाली हाई स्पीड रेलवे लाइन योजना को लॉन्च किया जाएगा. दुनिया के सबसे लंबे हाई स्पीड रेलवे ट्रैक का निर्माण चार साल के भीतर हो जाएगा. इसके लिए समय सीमा 2011 से 2015 तक रखी गई है.

ट्रैक पर 300 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेनें भागेंगी. इसकी वजह से बीजिंग और शंघाई के बीच की यात्रा पांच घंटे से भी कम समय में पूरी हो जाएगी. फिलहाल शंघाई से बीजिंग आने जाने में ट्रेनों को 10 से ज्यादा घंटे लगते हैं. चीन हवाई यातायात से ज्यादा तरजीह रेलवे को दे रहा है. रेलवे ट्रैकों के जरिए विद्युतीय गति से माल भी ढोया जा सकता है. तेजी से आर्थिक तरक्की करता चीन इस बात को भली भांति जानता है.

चीन के रेल मंत्रालय का कहना है कि बीजिंग-शंघाई रेलवे ट्रैक 'अंतरराष्ट्रीय स्तर की तकनीक' वाला होगा. भविष्य के बारे में इशारा करते हुए चीन के उप रेल मंत्री हू यातोंग ने कहा, "रेलवे में निवेश तेज विकास का मानक बना रहेगा. हम योजनाओं को धीमा नहीं पड़ने देंगे. निवेश में कोई कटौती नहीं होने दी जाएगी."

The new high-speed CRH3 train during a trial run on the new Beijing-Tianjin line arrive at the new Tianjin Railway Station, Tuesday, July 22, 2008. A new high speed train link between Beijing and Tianjin, where Olympic soccer matches will be played, is scheduled to open on Aug 1. The train, which can run at speeds up to 350 kph, will cut the travel time between the two Olympic cities from 1 hour, 10 minutes to 25-30 minutes. The electronic board reads Tianjin Station Welcome You. (AP Photo/Andy Wong)

चीन ने 2010 में ही रेलवे पर 707.5 अरब युआन खर्च किए. अगले पांच सालों में बीजिंग रेल परियोजनाओं पर 2.8 खरब युआन खर्च करेगा. चीन ने 2015 तक 45,000 किलोमीटर लंबा हाई स्पीड रेलवे ट्रैक तैयार करने का लक्ष्य रखा है.

इन परियोजनाओं की वजह से चीन का रेल मंत्रालय पर मार्च 2011 तक करीब दो खरब युआन का कर्ज हो गया है. लेकिन सरकार का कहना है कि एक बार लक्ष्य हासिल होते ही सब कुछ ट्रेनों के साथ ही पटरी पर आ जाएगा. भारत, ब्राजील और मेक्सिको जैसे देश इस मामले में चीन से काफी पिछड़ चुके हैं. परिवहन के क्षेत्र में अब चीन पश्चिमी देशों की बराबरी पर आने जा रहा है.

रिपोर्ट: रॉयटर्स/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

विज्ञापन