गोल्ड से चूकीं वर्ल्ड चैंपियन तेजस्विनी | वर्ल्ड कप 2014 | DW | 11.10.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

गोल्ड से चूकीं वर्ल्ड चैंपियन तेजस्विनी

कॉमवेल्थ खेलों में भारत के निशानेबाजों का बेहतरीन प्रदर्शन आठवें दिन भी जारी है. सोमवार को गोल्ड मेडल पाने में तो भारतीय शूटर नाकाम रहे लेकिन तेजस्विनी सावंत और मीना कुमारी ने ब्रॉन्ज मेडल जीत ही लिया.

default

सावंत और मीना कुमारी का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा और वे मामूली अंतर से ही स्वर्ण पदक पाने से चूकीं. कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में हुई 50 मीटर राइफल प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल स्कॉटलैंड के हिस्से आया. वहां की जेन मैकइंतोश और के कॉपलैंड ने सबसे ज्यादा अंक बनाए. मैकइंतोश ने 591 अंक हासिल किए जबकि कॉपलैंड 578 अंक बनाने में कामयाब रहीं.

दूसरे नंबर पर इंग्लैंड की टीम रही. इंग्लैंड की मिशेल स्मिथ ने 590 का स्कोर बनाया जबकि उनकी साथी शैरोन ली ने 579 अंक जुटाए. इस तरह उन्हें सिल्वर मेडल हासिल हुआ.

हालांकि स्कॉटलैंड और इंग्लैंड दोनों का स्कोर बराबर यानी 1169 अंक रहा. लेकिन स्कॉटलैंड की टीम ने 60 बार परफेक्ट टेन बनाया, इसलिए सोने का तमगा उनके हिस्से आया.

भारत की पहली महिला वर्ल्ड चैंपियन तेजस्विनी ने अपने निशानों के जरिए 583 अंक जुटाए जबकि उनकी साथी मीना कुमारी 585 अंक जुटा पाईं. उनके कुल अंक 1168 रहे. यानी सिर्फ एक अंक से वे गोल्ड मेडल से चूक गईं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ओ सिंह

विज्ञापन