गैंडे के मल से कागज | मल्टीमीडिया | DW | 06.04.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मल्टीमीडिया

गैंडे के मल से कागज

पूर्वोत्तर के राज्य असम से. बीसवीं सदी की शुरुआत में दुनिया भर में एक सींग वाले केवल 200 गैंडे ही बचे थे. और इनमें सबसे बड़ी संख्या भारत में मौजूद थी. पिछले सौ सालों में इन्हें बचाने के लिए प्रयास किए गए हैं. इन्हीं का नतीजा है कि आज इनकी संख्या 3,700 से ज्यादा हो चुकी है. असम में एक संस्था गैंडों के मल से कागज बनाती है

वीडियो देखें 05:34