गुजरात तट से नहीं टकराएगा चक्रवाती तूफान ′वायु′ | भारत | DW | 13.06.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

गुजरात तट से नहीं टकराएगा चक्रवाती तूफान 'वायु'

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, आईएमडी ने बताया कि चक्रवाती तूफान 'वायु' गुरुवार को गुजरात के तटीय क्षेत्र से नहीं टकराएगा. इसके सौराष्ट्र क्षेत्र से होकर गुजरने का अनुमान लगाया जा रहा है.

Gir Somnath: A view of Somnath Temple in Gujarat's Gir Somnath (IANS)

गुजरात के सोमनाथ मंदिर के पास बहुत तेज गति से चलीं हवाएं.

पहले ऐसा अनुमान लगाया जा रहा था कि तूफान 'वायु' गुजरात तट से टकराएगा, लेकिन गुरुवार को दोपहर बाद इसके सौराष्ट्र क्षेत्र से होकर गुजरने की उम्मीद है. आईएमडी की वैज्ञानिक मनोरमा मोहंती ने मीडिया से कहा,"चक्रवाती तूफान वायु गुजरात तट पर दस्तक नहीं देगा. यह वेरावल, द्वारका, पोरबंदर के पास से होकर गुजरेगा." मोहंती ने बताया, "ऐसी संभावना है कि यह सौराष्ट्र तट के पास से उत्तर-उत्तर पश्चिमी और उसके बाद उत्तर-पश्चिम की ओर से गुजरेगा."

अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार ने कहा कि आईएमडी ने यह सूचित कर दिया है कि चक्रवाती तूफान ने अपना रास्ता बदल दिया है. हालांकि यह अभी भी तेज वायु और भारी वर्षा का कारण बन सकता है, इसलिए हम अभी भी हर परिस्थिति के लिए तैयार हैं. स्काईमेट वेदर ने कहा कि 'बेहद तीव्र चक्रवात' का यह तूफान वर्ग 2 के चक्रवाती तूफान से वर्ग 1 के चक्रवाती तूफान में बदल सकता है, वहीं हवा की रफ्तार 135 से 145 प्रतिघंटा हो सकती है, जिसके 175 प्रतिघंटा तक होने की संभावना है. हालांकि इसके पहले ही गुजरात ने करीब 3 लाख लोगों और सौराष्ट्र से लगे हुए केंद्र शासित प्रदेश दमन दीव से 10 हजार लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है.

गुजरात के अलावा कर्नाटक और उत्तरी महाराष्ट् के तटीय इलाकों में लोगों से शनिवार तक समुद्र में ना जाने को कहा गया है. पश्चिमी गुजरात, कर्नाटक और गोवा राज्यों में भारी वर्षा होने का अनुमान है. पिछले ही महीने मई में भारत के पूर्वी तट पर ओडीशा राज्य में 'फानी' तूफान आया था. इसकी चपेट में आने से कम से कम 80 लोगों की जान चली गई थी और काफी तबाही हुई थी.

आरपी/एए (आईएएनएस, डीपीए)

_______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन