खुद से साफ होती कार | विज्ञान | DW | 01.05.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

खुद से साफ होती कार

बारिश के मौसम में सबसे ज्यादा मेहनत कार साफ करने में लगती है. कीचड़ को पहले पानी और फिर साबुन के घोल से हटाया जाता है. बाजार में जल्द ऐसी कार आने वाली है जो खुद ही अपनी सफाई कर लेगी.

जापान की कार बनाने वाली कंपनी निसान का दावा है कि उसने दुनिया का पहला ऐसा स्वयं सफाई करने वाला पेंट तैयार किया है जो खुद से कीचड़ और धूल हटा देता है. यह ऐसी तकनीक है जो रोजाना की कार धुलाई से छुटकारा दिला सकती है.

टेस्ट में एक सफेद रंग की निसान नोट कार इस्तेमाल की गई है. परीक्षण के दौरान कार ऐसे रास्तों से गुजरी जहां कीचड़ और धूल थी. लेकिन खास तरह की पेंटिंग की वजह से धूल और कीचड़ कार की बॉडी पर नहीं टिक सके और वह तुरंत खुद बखुद हट गए.

गंदगी निरोधी पेंट का विकास अमेरिकी कंपनी अल्ट्रा टेक इंटरनेशनल ने किया है. यह पर्यावरण और पेंट के बीच सूक्ष्म हवा की परत बनाता है. निसान का कहना है कि हर मौसम में हुए परीक्षण आशाजनक साबित हुए हैं. निसान जर्मनी के प्रवक्ता अलेक्जांडर सेलई कहते हैं, "यह बहुत अच्छे तरीके से काम करता है."

इस बीच जर्मनी की केमिकल कंपनी इवोनिक एक ऐसे पेंट पर काम कर रही है जो खरोंच प्रतिरोधी है. यह पेंट छोटी सी छोटी खरोंच को भी रोक सकेगा. अक्सर ऑटोमैटिक कार वॉशिंग सेंटर में ब्रश की रगड़ से कार की बॉडी पर बेहद छोटी खरोंचें लग जाती हैं. कंपनी का कहना है कि कई कार कंपनियों ने इस पेंट में दिलचस्पी दिखाई है.

एए/आईबी (डीपीए)

संबंधित सामग्री

विज्ञापन