खुद को बदलती रहती हैं लारा दत्ता | लाइफस्टाइल | DW | 17.08.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

लाइफस्टाइल

खुद को बदलती रहती हैं लारा दत्ता

मॉडल से ब्यूटी क्वीन और फिर हिंदी फिल्मों में एक सफल करियर बना चुकी लारा दत्ता मानती है कि खुद को लगातार बदलते रहने से ही उन्हें कामायाबी मिली है. सात साल के फिल्मी करियर में लारा ने कई तरह की भूमिकाएं निभाई हैं.

बदलते रहने वाली लारा

बदलते रहने वाली लारा

सफल मॉडल, ब्यूटी क्वीन और कुछ फिल्में कर लेने का ये मतलब नहीं हैं कि लारा दत्ता अब बस बैठकर तमाशा देखें और अपनी पिछली कामयाबी का मज़ा लें. लारा कहती हैं," मैंने अपने करियर में अपने काम का आनंद उठाया है और मैं चाहती हूं कि आगे भी ऐसा ही करती रहूं." आखिरी बार लारा दत्ता साजिद खान की फिल्म हाउसफुल में नजर आईं थीं. लारा मानती हैं कि वो भारत की उन चुनिंदा महिलाओं में हैं जो बदन दिखाने वाले कपड़ों में भी अश्लील नहीं दिखतीं.

Filmszene aus Billu Barber

लारा और शाहरुख

लारा याद करती हैं कि फिल्म ब्लू के लिए उन्हें काफी मेहनत कर अपना फिगर रोल के हिसाब से ढालना पड़ा. इसी तरह हाउसफुल में भी गृहिणी की भूमिका के लिए भी उन्हें अपने फिगर में काफी बदलाव लाना पड़ा.यहां उन्हें गृहिणी होने के बावजूद ग्लैमरस भी दिखना था. लारा मानती हैं कि इन बदलावों सें उन्हें भी फायदा होता है.

लारा इस बात के लिए ऊपरवाले का शुक्र अदा करती हैं कि कभी उनसे ओछे या सस्ते किस्म का प्रचार पाने वाले काम करने के लिए नहीं कहा गया. लारा चाहती हैं कि दर्शक उनके बारे में अच्छी राय रखें और अब तक यही होता भी आया है. हालांकि अच्छी भूमिकाएं करने के लिए तारीफ पाने के बावजूद लारा की झोली में इस साल ज्यादा फिल्में नहीं हैं. इस साल वो सुधीर मिश्रा की और देवदास और फरहान अख्तर की डॉन-2 में नज़र आएंगी. लारा कहती हैं कि भले ही उनकी कुछ फिल्में नहीं चलीं लेकिन बाकी के लिए उनके काम की तारीफ हुई. आगे भी वो जल्दबाजी करने की बजाए उन फिल्मों को ही तरजीह देंगी जिनमें कुछ कर दिखाने का मौका मिले.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन