खाली स्टेडियमों में चमकते चैम्पियन | खेल | DW | 12.08.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

खाली स्टेडियमों में चमकते चैम्पियन

मॉस्को के लुजनिकी स्टेडियम में वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के दौरान खाली खाली मैदान सचमुच के सोमवार का अहसास करा रहे थे हालांकि यूक्रेनी दर्शकों ने अपनी तरफ से माहौल में जोश भरने की भरपूर कोशिश की.

मॉस्कोवासी अगर रविवार की गर्म शाम में बोल्ट की कड़कती बिजली को देखने नहीं आए तो सोमवार सुबह उनके मैदान में होने की उम्मीद भला किसको रहती. बोल्ट की रेस में भी स्टेडियम महज तीन चौथाई ही भरा था. यूसैन बोल्ट ने यह रेस जीत ली. बोल्ट के 100 मीटर की फाइनल दौड़ में जीत इस मामले में भी ऐतिहासिक रही की इस में जमैका के चार धावक थे.

सोमवार को क्वालिफाइंग सत्र के दौरान यहां विश्वस्तर के कई खिलाड़ी मौजूद थे. 400 मीटर की बाधा दौड़ में दो बार ओलंपिक विजेता रह चुके डोमिनिकन रिपब्लिक के फेलिक्स सांचेज ने सन्नाटे के बीच गर्म ट्रैक पर बढ़त लेने के बाद कहा, "यह बिल्कुल खामोश है, कोई माहौल नहीं, पिछले साल लंदन की तुलना में तो दिन और रात जैसा फर्क है."

400 मीटर बाधा दौड़ के क्वालिफाइंग मुकाबलों में सारे बड़े नामों का बेड़ापार हो गया हालांकि गुरुवार की रात असल मुकाबले में अमेरिका के माइकल टिंस्ले और प्यूर्टो रिको के जेवियर कुल्सॉन में किसी एक के सिर ताज सजने के आसार दिख रहे हैं. अमेरिका के पूर्व विश्व चैम्पियन बेर्श्वान जैक्सन सेमी फाइनल में क्वालिफाई कर गए थे लेकिन घुटने की नस में तेज खिंचाव के बाद ट्रैक से बाहर हो गए. जमैका की पूर्व जूनियर वर्ल्ड चैम्पियन कैलिस स्पेंसर गर्मी से तो मुकाबला कर गईं लेकिन एक बाधा पार करने के दौरान पैर से एक बाधा छू जाने के कारण बाहर हो गईं.

ओलंपिक में डेकाथेलॉन चैम्पियन और वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाले एश्टन एटॉन ने रविवार को एक शानदार मुकाबले में जीत हासिल की, लेकिन हेप्टाथेलॉन में ओलंपिक विजेता जेसिका एन्निस हिल, रूसी वर्ल्ड चैम्पियन तात्याना चेर्नोवा और ओलंपिक की रजत पदक विजेता जर्मन खिलाड़ी लिली श्वार्त्सकॉफ जैसे सितारों की गैरमौजूदगी ने इसकी सारी चमक ही छीन ली. डेकाथेलॉन में दस खिलाड़ियों को दस खेलों में मुकाबला करना होता है जबकि हेप्टाथेलॉन में सात.

इसका पूरा फायदा उठाने की उम्मीद ब्रायन थेसेन एटॉन को है और पिछले महीने डेकाथेलॉन के विजेता से शादी करने के बाद परिवार में दोहरा पदक जाने की उम्मीद की जा रही है. सोमवार को उन्होंने शानदार शुरूआत की लेकिन यूक्रेन की गाना मेलनिचेंको से पीछे ही रहीं.

मेलनिचेंको बाधा दौड़ में दूसरे नंबर पर रहीं, पीली और नीली टीशर्ट पहने यूक्रेनी दर्शकों ने उनके लिए जम कर शोर मचाया. जर्मनी के रॉबर्ट हार्टिंग लगातार तीसरा खिताब जीतने की होड़ में हैं और डिस्कस थ्रो में 66.62 मीटर की दूरी हासिल कर उन्होंने इसका अहसास दिला दिया है कि मंगलवार को फाइनल मुकाबले में उनकी तूती बोलेगी. मैदान खाली हों या भरे, खिलाड़ी अपना काम कर रहे हैं, पदक जीत रहे हैं, नाम चमक रहे हैं.

एनआर/एमजे(रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन