क्यों रद्द हो गई इंडिगो और गो एयर की उड़ानें | दुनिया | DW | 13.03.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

क्यों रद्द हो गई इंडिगो और गो एयर की उड़ानें

भारत की बजट एयरलाइंस इंडिगो और गो एयर ने मंगलवार को अपनी 65 उड़ानों को रद्द कर दिया. कंपनियों ने यह कदम विमानन नियामक डीजीसीए के एक फैसले के बाद लिया है.

डीजीसीए ने इन दोनों एयरलाइंस के उन 11 एयरबस ए-320 विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी थी जिनमें नियो सीरीज के PW1100 इंजन लगे हैं.

इंडिगो ने अपनी 47 उड़ानों को तो वाडिया समूह वाली गो एयर ने तकरीबन 18 उड़ानों को रद्द किया है. जिन उड़ानों को रद्द किया गया है उनमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, अमृतसर, भुवनेश्वर, पटना, श्रीनगर, गुवाहाटी से उड़ान भरने वाली फ्लाइट अहम हैं. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, डीजीसीए ने विमान सुरक्षा का हवाला देते हुए 12 मार्च को जारी अपने आदेश में उन 11 फ्लाइट्स की उड़ान पर रोक लगाने का आदेश दिया था जिनमें PW1100 इंजन शामिल थे. इन विमानों में तकनीकी समस्याएं देखने को मिल रही थीं. इस प्रैक एंड व्हिटनी (PW1100) के इंजन में दिक्कतों के पहले भी कई मामले सामने आए हैं जिसमें टेक ऑफ के बाद एक इंजन ने काम करना बंद कर दिया.

इसके पहले फरवरी में भी इंडिगो के तीन विमानों को इंजन की तकनीकी खराबी के चलते जमीन पर उतारा गया था. यात्रियों की समस्याओं को देखते हुए इंडिगो ने कहा है कि यात्री चाहे तो कंपनी की किसी दूसरी फ्लाइट में यात्रा कर सकते हैं या अपनी बुकिंग का पूरा पैसा वापस ले सकते हैं. इंडिगो ने कहा कि उसे इस बात का अंदाजा है कि यात्रियों को कंपनी के इस फैसले से परेशानी उठानी पड़ेगी लेकिन वह जल्द ही व्यवस्था बहाल कर रही है.

नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा के मुताबिक, "सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है. दुनिया भर में PW1100 के 43 इंजन है इनमें से 19 भारत में हैं जो अब तक इंडिगो और गो एयर में इस्तेमाल हो रहे थे." उन्होंने कहा कि इस मसले पर तकनीकी सलाह ली जा रही है इसके बाद इनके इस्तेमाल पर फैसला लिया जाएगा.इंडिगो के करीब 1000 विमान और गो एयर के करीब 230 विमान रोजाना उड़ान भरते हैं.

 

DW.COM

विज्ञापन