क्यों घूमती हैं यूरोपीय चीटियां बाएं | दुनिया | DW | 24.12.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

क्यों घूमती हैं यूरोपीय चीटियां बाएं

अगर आप दोराहे पर हों तो दाएं घूमते हैं या बाएं? यूरोप की पहाड़ी चीटियां आम तौर पर बाएं घूमती हैं. एक नई स्टडी के अनुसार यह समुदाय का ऐसा गुण है जो दुश्मनों से उनका अस्तित्व बचाने के काम आ सकता है.

इंसान सहित बहुत से जीव गति या दिशा के मामले में दूसरे पक्ष की तुलना में एक पक्ष के लिए प्राथमिकता दिखाते हैं. ब्रिटिश रॉयल सोसायटी की पत्रिका बायोलॉजी लेटर्स में प्रकाशित स्टडी में कहा गया है कि 90 फीसदी इंसान काम करने या लिखने के लिए दाएं हाथ का उपयोग करते हैं जबकि यूरोप की मधुमक्खियां चीजों का पता करने के लिए दाईं आंख का इस्तेमाल करती हैं. जब चाल चलन या व्यवहार का सवाल उठता है तो अमेरिकी तिलचट्टे दाएं घूमते हैं और पानी में रहने वाले बड़े कीड़े आम तौर पर बाएं घूमते हैं.

इंसानों की तरह रीढ़ वाले जानवरों में यह व्यवहार दिमाग के दो हिस्सों के अलग अलग गुणों से जुड़ा हुआ माना जाता है ताकि वे दो काम एक साथ कर सकें. ब्रिस्टल और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की एक टीम ने इस बात की जांच पड़ताल की क्या यूरोप की पहाड़ी चीटियों में कोई पार्श्विक झुकाव है. एक परीक्षण में आठ समुदायों की स्काउट चीटियों पर नजर रखी गई जो नए बसेरे की तलाश में थे. स्काउटों के झुंड बसेरे में घुसने के बाद 35 मामलों में बाएं मुड़े और 19 मामलों में दाएं.

दूसरे परीक्षण में गलियों वाली एक भूलभुलैया थी जिसके रास्ते दो हिस्सों में बंट जाते थे. दूसरे दोराहे के बाद चीटियों ने अक्सर बाएं रास्ते को चुना. वे 50 बार बाएं मुड़ीं जबकि 30 बार दाएं. स्टडी के एक लेखक ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के एडमंड हंट कहते हैं, "कोई वैज्ञानिक परीक्षण अंतिम नहीं होता, लेकिन हमारा मानना है कि सांख्यिकी के सामान्य पैमाने से बाएं घूमने के पूर्वाग्रह का यह अच्छा सबूत है."

रिसर्च पेपर का कहना है कि परीक्षण के दौरान देखा गया पूर्वाग्रह इतना मजबूत था कि वह "आबादी के स्तर पर महत्वपूर्ण" है. रिसर्च पेपर लिखने वाले वैज्ञानिकों का कहना है कि पार्श्विक प्राथमिकताएं ताकतवर द्वारा खत्म किए जाने के जोखिम को कम करता है. इसका नतीजा यह होता है कि कालोनी के ज्यादातर सदस्य एक ही जगह पर पहुंचते हैं और साथ रहते हैं. हंट का कहना है कि हो सकता है कि चीटियां दुश्मन को पहचानने के लिए बाईं आंख का इस्तेमाल करती हैं और आगे बढ़ने के लिए दाईं आंख का. "उनकी दुनिया भूलभुलैया जैसी है, इसमें हमेशा एक ओर मुड़ना उससे बाहर निकलने की अच्छी रणनीति है."

एमजे/आरआर (एएफपी)

विज्ञापन