क्या कोरोना के कारण ब्रिटेन की सरकार खतरे में है | दुनिया | DW | 28.03.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

क्या कोरोना के कारण ब्रिटेन की सरकार खतरे में है

ब्रिटेन में कोरोना के खिलाफ रक्षात्मक उपायों में ढील के आरोप लग रहे हैं. सरकार की आलोचना हो रही है कि प्रमुख नेता सरकारी प्रयासों का नेतृत्व करने के बदले खुद बीमार हैं. क्या सरकार की निर्णय लेने की क्षमता खतरे में है?

जब से ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और उनके स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर आई है, सरकार की इस बात के लिए आलोचना हो रही है कि वह महामारी के खिलाफ गंभीर नहीं है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्रीय डायरेक्टर रहे जॉन एश्टन ने सरकार पर निष्क्रियता का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि ये बात देश में कोरोना को रोकने के कदम उठाने के साथ उनके व्यक्तिगत आचरण पर भी लागू होती है.

ब्रिटेन में कोरोना से होनेवाली मौत का आंकड़ा शनिवार को बढ़कर 1019 हो गया. लंदन में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि शुक्रवार के बाद से और 260 लोगों की मौत हो गई. लंबी हिचकिचाहट के बाद प्रधानमंत्री ने सोमवार को देश में कर्फ्यू लगाया था और देशवासियों से अपील की थी कि वे एकदम जरूरी होने पर ही घर छोड़ें. पिछले बुधवार को ही खचाखच भरी संसद में उन्होंने सवालों के जवाब दिए थे.

Großbritannien Prinz charles mit Coronavirus infiziert (picture-alliance/dpa/PA-Wire/V. Jones)

प्रिंस चार्ल्स भी कोरोना पॉजिटिव

बिना एहतियात के संसद की बैठक

जॉन एश्टन ने दैनिक गार्डियन से कहा, "मुझे बहुत आश्चर्य हुआ कि प्रश्नकाल हुआ, इसकी कोई जरूरत नहीं थी.” फाइनैंशियल टाइम्स ने एक मंत्री के हवाले से कहा कि कुछ मंत्री सामाजिक दूरी पर अमल करने में "बहुत संकोच” कर रहे थे. एक अन्य मंत्री ने शिकायत की कि हाल ही में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक भी एक छोटे खचाखच भरे कमरे में हुई थी. बोरिस जॉनसन ने मार्च की शुरुआत में दावा किया था कि उन्होंने एक अस्पताल में मरीजों से हाथ मिलाया था जिसमें कोविद -19 के मरीज भी थे. उस समय उन्होंने कहा था कि वे ऐसा करते रहेंगे.

उस समय तक कोरोना महामारी को रोकने के लिए सरकार सिर्फ हाथ नियमित और ठीक से धोने की सलाह दे रही थी. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रधानमंत्री ने घोषणा की थी कि वे घरेलू आइसोलेशन के बावजूद 10 डाउनिंग स्ट्रीट पर अपने घर से काम करते रहेंगे. उन्होंने अपने संक्रमण को हल्का बताया. ये स्पष्ट नहीं है कि क्या उनकी गर्भवती मंगेतर कैरी साइमंड्स भी संक्रमण का शिकार हुई हैं? जॉनसन दम्पति को गर्मियों की शुरुआत में बच्चा होने वाला है.

Boris Johnson will heiraten und wird Vater (picture-alliance/dpa/PA Wire/Y. Mok)

प्रधानमंत्री और मंगेतर कैरी साइमंड्स

सरकार की क्षमता पर सवाल

बोरिस जॉनसन का दो बार तलाक हो चुका है. वे पिछले साल प्रधानमंत्री बनने के बाद अपने से 20 साल छोटी कैरी साइमंड्स के साथ प्रधानमंत्री के सरकारी निवास में रह रहे हैं. साइमंड्स पहले जॉनसन की कंजरवेटिव पार्टी की मीडिया एडवाइजर थीं. अब उन्हें अपनी मंगेतर से दूर रहना होगा. लंदन से मिल रही रिपोर्टों के अनुसार प्रधानमंत्री के लिए खाना और फाइलें कमरे के सामने रख दिए जाते हैं. प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री के साथ सरकार के मुख्य चिकित्सा सलाहकार क्रिस व्हिटी भी सेल्फ आइसोलेशन में हैं. लंदन के राजनीतिक हल्कों में इस बात की चिंता है कि अगर और मंत्री भी संक्रमित हो गए होंगे तो क्या सरकार की फैसला लेने की क्षमता प्रभावित होगी?

फिलहाल मंत्रियों का टेस्ट नहीं कराया जा रहा है. प्रधानमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा है कि उन्हें बीमारी के लक्षण के सामने आते ही सेल्फ आइसोलेशन में जाने को कहा गया है. यदि जॉनसन बीमारी की वजह से काम करने की हालत में नहीं होते हैं तो रिपोर्टों के अनुसार विदेश मंत्री डोमिनिक राब सरकार का नेतृत्व करेंगे. लेकिन उनकी क्षमता पर संदेह व्यक्त किए जा रहे हैं. ऐसी स्थिति में कैबिनेट मामलों के मंत्री माइकल गोव या वित्त मंत्री ऋषि सुनक के जिम्मेदारी संभालने की अटकलें लगाई जा रही हैं. ऋषि सुनक भारतीय मूल के हैं और इंफोसिस के संस्थापक नारायणमूर्ति के दामाद हैं.

Großbritannien London | Rishi Sunak, neuer Finanzminister (picture-alliance/AP Photo/M. Dunham)

वित्त मंत्री ऋषि सुनक

इलाज के लिए नए अस्पताल

इस बीच कोरोना से संक्रमित लोगों की बढ़ती संख्या को देखते हुए लंदन, मैनचेस्टर और बरमिंघम में कॉन्फ्रेंस सेंटरों को अस्पतालों में तब्दील किया जा रहा है. लंदन में एक्सेल सेंटर में 4,000 मरीजों का इलाज किया जा सकेगा. सरकार ने वायरस का टेस्ट करने की क्षमता में भारी वृद्धि करने की घोषणा की है. अब तक वहां सिर्फ 114,000 लोगों की जांच की गई है.

ब्रिटेन में भी मरीजों के लिए अत्यंत जरूरी वेंटिलेटर की कमी है. वैक्यूम क्लीनर बनाने के लिए मशहूर डायसन कंपनी वेंटिलेटर बनाएगी. सरकार ने उसे 10,000 वेंटिलेटर का ऑर्डर दिया है. लेकिन बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटेन को 30,000 वेंटिलेटर की जरूरत होगी. शुक्रवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के साथ बातचीत में बोरिस जॉनसन ने उनसे मदद मांगी थी. ट्रंप ने बताया कि अभिवादन से पहले जॉनसन ने कहा था, "हमें वेंटिलेटर की जरूरत है."

एमजे/एनआर (डीपीए)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

कोरोना के कारण कौन कौन से देशों में हुआ लॉकडाउन

संबंधित सामग्री