कोरोना वायरस: भारत में मामले 600 के पार, एक दिन में करीब 90 नए मामले | भारत | DW | 26.03.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

कोरोना वायरस: भारत में मामले 600 के पार, एक दिन में करीब 90 नए मामले

तालाबंदी के पहले दिन संक्रमण के कम से कम 87 नए मामले सामने आये जो कि अभी तक एक दिन में होने वाली सबसे बड़ी वृद्धि है. इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 600 के पार चली गई है.

भारत में राष्ट्रीय स्तर पर तालाबंदी होने के बावजूद अभी तक कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने की रफ्तार कम नहीं हुई है. तालाबंदी के पहले दिन 25 मार्च को संक्रमण के कम से कम 87 नए मामले सामने आये जो कि अभी तक एक दिन में होने वाली सबसे बड़ी वृद्धि है. इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 600 के पार चली गई है, जिसमे 10 मौतें शामिल हैं.

राजधानी दिल्ली में संक्रमण का एक ऐसा मामला सामने आया है जिस से एक बार फिर रेखांकित हो गया है कि यह संक्रमण कितनी आसानी से फैल सकता है. उत्तरपूर्वी दिल्ली के मौजपुर इलाके में दिल्ली सरकार द्वारा चलाये जा रहे एक मोहल्ला क्लिनिक के डॉक्टर को ही कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. डॉक्टर की पत्नी और बेटी भी संक्रमित हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है.

और भी ज्यादा चिंता की बात यह है कि डॉक्टर से उनके मरीजों तक संक्रमण के फैल जाने का खतरा है, लिहाजा सरकार ने आम घोषणा कर दी है कि मौजपुर मोहल्ला क्लिनिक में जो भी व्यक्ति 12 मार्च से 18 मार्च के बीच गया था वो खुद को क्वारंटीन कर ले और अगर कोविड-19 के लक्षण महसूस होते हैं तो किसी डॉक्टर से सम्पर्क करे.

इसी बीच दिल्ली में तालाबंदी प्रभावशाली रूप से लागू करने के लिए दिल्ली पुलिस कड़े कदम उठा रही है. तालाबंदी के उल्लंघन के आरोप में 25 मार्च को 183 केस दर्ज किए गए, 5,000 से भी ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया और 956 वाहनों को जब्त कर लिया गया. वहीं दिल्ली पुलिस और प्रशासन ने कुछ गलतियों को सुधारने के लिए भी कदम उठाये. घर पर सामान पहुंचा देने वाली ई-कॉमर्स कंपनियों को जिन मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था उन्हें हटाने के लिए कंपनियों को आश्वासन दिया गया और उनका साथ देने का वचन दिया गया.

इसके अलावा दिल्ली पुलिस स्थानीय दुकानदारों के साथ मिल कर दुकानों पर आये ग्राहकों के बीच भी आवश्यक दूरी बनाये रहने के उपाय सुझा रही है.

विशेष उड़ानों से भेजे जा रहे हैं विदेशी नागरिक

कई विदेशी नागरिक जो अब भी भारत में हैं और अपने-अपने देश लौटना चाह रहे हैं उनके वापस जाने का इंतजाम अभी भी किया जा रहा है, सभी सामान्य उड़ानें बंद होने के बावजूद. भारत सरकार की मदद के साथ इन देशों के दूतावासों ने इस पूरी कार्यवाही का जिम्मा संभाला हुआ है. 25 मार्च की देर रात लुफ्थांसा का एक हवाई जहाज 500 जर्मन नागरिकों को लेकर जर्मनी के लिए रवाना हो गया.

और देशों के दूतावास भी इस तरह की विशेष उड़ानों की व्यवस्था करने में लगे हुए हैं. बताया जा रहा है कि रूसी दूतावास ने भी इसी तरह 400 रूसी नागरिकों के स्वदेश लौटने का इंतजाम किया. फ्रांसीसी दूतावास करीब 2000 सैलानियों को वापस भेजने की तैयारी कर रहा है और अमेरिका और ब्रिटेन के दूतावास भी ऐसी ही कोशिश में लगे हुए हैं.

जी20 की वर्चुअल बैठक से जुड़ेंगे मोदी

दूसरी ओर जी20 देशों की एक वर्चुअल बैठक का आयोजन किया जा रहा है जिसमें सभी सदस्य देशों के नेता वीडियो कॉन्फरेंसिंग के जरिये जुड़ेंगे. 27 मार्च को आयोजित की जाने वाली इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी हिस्सा लेंगे. उन्होंने कुछ ही दिन पहले सार्क देशों की ऐसी ही वर्चुअल बैठक बुलाई थी और जी20 देशों की भी बैठक को वर्चुअल बनाने की बात की थी.

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन