कैथोलिक गिरजे ने पहली बार नियुक्त की चार महिला कंसल्टेंट | दुनिया | DW | 24.05.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

कैथोलिक गिरजे ने पहली बार नियुक्त की चार महिला कंसल्टेंट

कैथोलिक गिरजे के पोप फ्रांसिस ने बिशप सिनोड के महा सचिवालय के लिए छह कंसल्टेंट नियुक्त किए हैं जिनमें पहली बार चार महिलाएं भी हैं. कैथोलिक गिरजे में काफी समय से महिलाओं को पादरी पद पर नियुक्त करने की मांग हो रही है.

Vatikan Papst Franziskus trifft Mitglieder der Italian Foreign Press Association (Reuters/Vatican Media)

फाइल

पोप फ्रांसिस ने फ्रांस की नन नाताली बेकुआ, इटली की समाजशास्त्री आलेजांड्रा स्मेरिली, स्पेन की पत्रकार मारिया लुइजा बैरसोजा और इटली की समाजविज्ञानी सेसिलिया कोस्टा की नियुक्ति की है. ये जानकारी वैटिकन ने शुक्रवार को दी. चर्च के एक ऑर्डर की सदस्य बेकुआ लंबे समय तक फ्रेंच बिशप कांफ्रेंस के इवांजेलिक सेंटर की प्रमुख थीं. स्मेरिली रोम में अर्थशास्त्र पढ़ाती हैं और वैटिकन प्रशासन में सलाहकार हैं. चारों महिलाएं पिछले साल हुए युवा सम्मेलन में शामिल थीं.

बिशप काउंसिल के सलाहकारों का काम बिशपों की दो आम सभाओं के बीच काउंसिल की मदद करना है. वे आम सभाओं में भाग ले सकते हैं, वहां भाषण दे सकते हैं, लेकिन उन्हें वोट देने का अधिकार नहीं होता. इस साल अक्टूबर में होने वाली आम सभा में अमेजन इलाके पर चर्चा होगी. बिशप सिनोज कैथोलिक गिरजे में पोप की सलाहकारी परिषद है.

पोप पॉल छठे ने 1965 में इसका पहली बार गठन किया था. इसका काम पोप और दुनिया भर के बिशपों के बीच संबंधों को गहरा बनाना और चर्च के आम मामलों में सलाह मशविरा करना है. बिशप सिनोड कैथोलिक चर्च की संवैधानिक संस्था है. इसीलिए एक स्थायी महासचिवालय बनाया गया है जो इसके कामों का निर्देशन करता है. कैथोलिक गिरजे में महिलाओं को पादरी, बिशप या आर्चबिशप जैसे पदों पर नियुक्त नहीं किया जाता.

एमजे/आईबी (केएनडी)

_______________

मसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

कैथोलिक पोप का ऐतिहासिक अरब दौरा

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन