कारोबारियों के लिए कैटेलोनिया में नहीं रहे ″अच्छे दिन″ | दुनिया | DW | 29.11.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कारोबारियों के लिए कैटेलोनिया में नहीं रहे "अच्छे दिन"

स्पेन का कैटेलोनिया प्रांत अब कारोबारियों को रास नहीं आ रहा है. बीते महीनों में राज्य और केंद्र के बीच के राजनीतिक टकराव ने कैटेलोनिया की छोटी कंपनियों को अपने मुख्यालय राज्य से बाहर ले जाने के लिए मजबूर कर दिया है.

कैटेलोनिया में उठी आजादी की मांग ने स्पेन का समर्थन करने वालों को कैटेलोनिया के खिलाफ खड़ा कर दिया. नतीजन, स्पेन के कई क्षेत्रों में कैटेलोनिया के उत्पादों और कंपनियों के बहिष्कार की मांग उठने लगी. हालांकि पिछले महीने केंद्र सरकार ने कैटेलोनिया का शासन अपने हाथ में ले लिया, जिसके बाद तनाव में कमी आयी है. लेकिन हालात अब भी चिंताजनक है. दिसंबर में कैटेलोनिया में स्थानीय चुनाव होने हैं लेकिन अब भी तमाम कारोबारियों को इस अनिश्चितता के खिलाफ एक सुरक्षा की जरूरत महसूस हो रही है. कुछ कारोबारियों ने इसका समाधान भी निकाला है. राज्य में वाइन एंड स्प्रिरिट कंपनी चला रहे कारोबारी कैटेलोनिया के बाहर एक अन्य वितरण कंपनी खोलकर मैड्रिड के बाजार पर वापस अधिकार कायम करना चाहते हैं. कैटेलोनिया संसद की एकतरफा आजादी की घोषणा के बाद से कंपनी की बिक्री में 30 फीसदी की कमी आयी थी. उन्हें उम्मीद है कि यह नयी वितरण कंपनी खासकर मैड्रिड के बाजार में बिक्री को दोबारा बहाल कर सकेगी. कारोबारी कहते हैं, "अगर ऐसा नहीं किया गया तो हम अपना माल बेच भी नहीं पायेंगे. यह एक ऐसा निर्णय है जिसे आपको लेना पड़ता है जब आपके पास कोई और विकल्प नहीं होता."

मैड्रिड में कम बिकने लगी कैटेलोनिया की शराब

स्पेन के कमर्शियल रजिस्ट्रार ऑफिस के आंकड़ों मुताबिक, "राजनीतिक अस्थिरता के चलते अब तक तकरीबन 2,700 कंपनिया अपने मुख्यालय कैटेलोनिया के बाहर ले जा चुकी हैं." आंकड़ों के मुताबिक अब तक ये कदम प्रशासनिक ढंग से ही उठाये गये हैं. लेकिन आशंका है कि कारोबारी नुकसान से बचने के लिए कर्मचारियों समते विनिर्माण इकाइयों को भी राज्य के बाहर ले जा सकते हैं. जिन कंपनियों ने राज्य को अलविदा कहा है उसमें कैटेलोनिया के दो बड़े बैंक भी शामिल हैं. जिसके बाद अब यहां की छोटी और मझोली कंपनियां भी बाहर का रुख करने लगी हैं. 

दवा कंपनियां भी ऐसी ही शिकायतें कर रहीं है. एक दवा कंपनी के निदेशक ने बताया कि स्पेन समर्थक कैटेलोनिया में तैयार दवा लेने से भी इनकार कर रहे हैं. हालांकि इन कंपनियों का मुख्यालय बाहर ले जाने का एक कारण यह भी है कि ये कंपनियां यूरोपीय संघ के कानूनी ढांचे में बनी रहना चाहती हैं. उन्हें डर है कि अगर कैटेलोनिया स्वतंत्र हो गया तो ऐसा मुश्किल हो सकता है. दवा कारोबारियों के मुताबिक अगर कैटेलोनिया अलग हो जाता है तो कंपनियों को अपना माल यूरोपीय संघ में भेजने के लिए कस्टम ड्यूटी देनी होगी, जो कंपनी को दिवालिया करने के लिए बहुत है.

कैटेलोनिया प्रशासन को अपने हाथों में ले चुकी स्पेन सरकार कंपनियों को कैटेलोनिया पर विश्वास बनाये रखने की अपील कर रही है. देश के प्रधानमंत्री मारियानो राखोय ने बार्सिलोना की अपनी यात्रा के दौरान इस बात पर जोर दिया. हालांकि कुछ लोगों को उम्मीद है 21 दिसंबर को होने वाले स्थानीय चुनावों के बाद कैटेलोनिया से बाहर जाती कंपनियां राज्य में वापस आ जायेंगी.

वीडियो देखें 01:22
अब लाइव
01:22 मिनट

क्यों है कैटेलोनिया पर विवाद

एए/ओएसजे (एएफपी)

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री

विज्ञापन