कब हुआ किस शब्द का जन्म | दुनिया | DW | 08.01.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कब हुआ किस शब्द का जन्म

शब्दों को सुनकर अकसर मन में सवाल उठता है कि शब्द कहां से आए. कोई शब्द कैसे बना होगा, कैसे बदला होगा? जर्मन में हालांकि शब्दों के इतिहास की परंपरा है, लेकिन अब इसे डिजीटाइज करने की योजना है.

जर्मन भाषा से जुड़े हर सवाल का जवाब डूडेन व्याकरण कोश है जो 1880 से प्रकाशित हो रहा है. थुरिंजिया में एक हाई स्कूल के हेडमास्टर कोनराड डूडेन ने 1872 में पहली बार एक जर्मन ग्रामर का प्रकाशन किया और उसे नाम दिया डूडेन.

1880 में पहली बार जर्मन भाषा के सम्पूर्ण ऑर्थोग्राफिकल ग्रामर का प्रकाशन किया. प्रशा की सरकार ने उसी साल इसे जर्मन भाषा के सही हिज्जे का औपचारिक स्रोत घोषित कर दिया. डूडेन के पहले संस्करण में 28,000 शब्द थे.

अब तक इसके 27 संस्करण निकल चुके हैं. यह 12 वॉल्यूमों में प्रकाशित किया जाता है जिनमें शब्दकोष के अलावा उच्चारण, शब्द व्युत्पत्ति, विदेशी और पर्यायवादी शब्दों के कोष शामिल हैं.

जिंदगी का निचोड़ हैं ये 11 जर्मन कहावतें

इस साल के शुरू से जर्मन भाषा डिजीटल लेक्सिकोग्राफी सेंटर ने काम करना शुरू किया है. इस सेंटर का काम एक डिजीटल सूचना सिस्टम बनाना है जिसमें अतीत और वर्तमान के जर्मन शब्दों का व्यापक वर्णन किया जाएगा. यह सेंटर बर्लिन, गोएटिंगन, लाइपजिग और माइंस की विज्ञान अकादमियों ने मिलकर किया है.

सोशल मीडिया के जमाने में शब्द हथियार बन गए हैं. इनका इस्तेमाल लोगों को शिक्षित करने के अलावा उनको प्रभावित करने में भी किया जा रहा है. शब्दों को किस तरह उसके परिपेक्ष्य में देखा जाए, इसके लिए उसकी व्युत्पत्ति के बारे में जानना जरूरी है.

लोकतंत्र में रियासत या प्रजा जैसे शब्दों का इस्तेमाल दिखाता है कि प्रशासन में जनता और नागरिक की भूमिका को नकारा जा रहा है या नकारने की भीतरखाने कोशिश हो रही है. इसलिए भाषा के व्यापक स्वरूप पर शोध और प्राप्त जानकारी को लोगों के लिए उपलब्ध कराना न सिर्फ वैज्ञानिक बल्कि सामाजिक महत्व का काम है.

शब्दों के इतिहास, उनके सही रूप, उनके इस्तेमाल, उच्चारण, व्याकरण और क्षेत्रीय इस्तेमाल पर जानकारी न सिर्फ भाषा और साहित्य के अध्येताओं के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि पत्रकारों, अनुवादकों, शिक्षकों और जर्मन भाषा में दिलचस्पी रखने वाले विदेशी अध्येताओं के लिए भी. सन 1600 से मौजूदा समय तक प्रचलित जर्मन शब्दों पर ये जानकारियां इंटरनेट पर खुले तौर पर बिना किसी शुल्क के उपलब्ध कराई जाएंगी.

मजेदार जर्मन मुहावरे

DW.COM

विज्ञापन