कई दिनों से कार में ही रह रहा था जर्मन संदिग्ध | दुनिया | DW | 02.12.2020
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

कई दिनों से कार में ही रह रहा था जर्मन संदिग्ध

जर्मनी के ट्रियर में कार की चपेट में आ कर मरने वालों की संख्या 5 हो गई है. पुलिस का कहना है कि इस हादसे के पीछे फिलहाल कोई राजनीतिक मंशा नहीं दिखी है.

मामले की जांच कर कर रही पुलिस टीम का कहना है कि संदिग्ध व्यक्ति से गहन पूछताछ की जा रही है. फिलहाल पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता कि किस वजह से उसने सिटी सेंटर में लोगों को अपनी गाड़ी का निशाना बनाया. मरने वालों में एक 9 महीने की बच्ची और उसके पिता भी शामिल हैं जिनकी उम्र 45 साल थी. इसी परिवार का 18 महीने का बेटा और उसकी मां फिलहाल अस्पताल में हैं. मंगलवार की शाम एक शख्स ने पैदल जाने वाले इलाके में अपनी एसयूवी घुसा दी जिसके कई लोग शिकार बने.

इस हादसे में एक 73 साल की महिला और एक 25 साल की महिला भी शामिल हैं. इसके अलावा 52 साल की एक और महिला इस हादसे में घायल हुई थी जिसकी मंगलवार को मौत हो गई. इस तरह से अब तक कुल 5 लोगों ने जान गंवाई है. पुलिस के मुताबिक 14 लोग इस हादसे में घायल हुए हैं जिनमें चार की स्थिति जीवन और मौत के बीच झूल रही है जबकि पांच लोगों को गंभीर नुकसान हुआ है. कुछ की हालत गंभीर है. राज्य के गृह मंत्री रोजर लेवेंत्स का मानना है कि ड्राइवर ने जानबूझ कर पैदल यात्रियों को निशाना बनाया. उसने "दाएं बाएं" गाड़ी चला कर ज्यादा से ज्यादा लोगों को क्षति पहुंचाने की कोशिश की.

Deutschland Trier | Auto erfasst Fußgänger in Fußgängerzone

मंगलवार दोपहर बाद हुआ हादसा

हादसे के तुरंत बाद ड्राइवर को हिरासत में लिया गया और उसकी गाड़ी जब्त कर ली गई. जांच अधिकारियों के मुताबिक ड्राइवर घटना के वक्त गाड़ी में अकेला था और पुलिस के पास उसका पहले से कोई रिकॉर्ड नहीं है. पुलिस की ओर से किए गए ट्वीट के मुताबिक उसकी उम्र 51 साल है. वह ट्रियर का निवासी है और जर्मन है.

अभियोजन कार्यालय के मुताबिक शुरुआती तौर पर ऐसे संकेत मिले हैं कि ड्राइवर को मानसिक बीमारी हो सकती है. यही वजह है कि न्यायिक अधिकारी अभी तक यह तय नहीं कर पाएं हैं कि उसे रिमांड पर भेजा जाए, न्यायिक हिरासत में या फिर किसी मनोवैज्ञानिक संस्थान में. इस शख्स ने शहर के विख्यात रोमन सिटी गेट के पास पोर्ट निग्रा में पैदल चलने वाले इलाके में अपनी एसयूवी घुसा दी. सरकारी वकील का कहना है कि घटना के वक्त वह नशे की हालत में था और उसने गिरफ्तारी का विरोध किया.

ट्रियर के मेयर वोल्फ्राम लिबे का कहना है, "ऐसा लगता है कि हम ऐसे संदिग्ध के बारे में बात कर रहे हैं जिसके साथ कोई मानसिक समस्या है लेकिन हमें जल्दबाजी में किसी नतीजे पर नहीं पहुंचना चाहिए." अधिकारियों का कहना है कि संदिग्ध को आपराधिक रूप से जिम्मेदार माना जाए या नहीं इसके लिए उसकी मानसिक स्थिति का विस्तृत विश्लेषण करना होगा.

यह शख्स पिछले कुछ दिनों से गाड़ी में ही रह रहा था और ऐसा लगता है कि उसका कोई निश्चित पता नहीं है. उसने यह लैंडरोवर गाड़ी उधार ली थी जो उसके एक दोस्त के नाम पर रजिस्टर है. पुलिस ने संदिग्ध का नाम जारी नहीं किया है. मौके पर मौजूद कुछ चश्मदीदों ने समाचार एजेंसी डीपीए को बताया कि गाड़ी की टक्कर से कई लोग हवा में उछल गए. मंगलवार को ट्रियर कथीड्रल पर सैकड़ों लोग घटना के पीड़ितों को श्रद्धांजलि देने के लिए जमा हुए.

2016 में एक शख्स ने राजधानी बर्लिन में किसमस मार्केट की तरफ ट्रक दौड़ा दिया था. उस घटना में 12 लोगों की मौत हुई और दर्जनों लोग घायल हो गए. उसके बाद से पूरे जर्मनी में पैदल जाने वाले इलाके की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. 2016 के बाद इस तरह की कुछ और घटनाएं हुई हैं.

एनआर/आईबी(डीपीए, रॉयटर्स, एपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन