और दो साल रहेंगे योगी जर्मन कोच | खेल | DW | 13.05.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

और दो साल रहेंगे योगी जर्मन कोच

जब कोई बड़ा खेल आयोजन होता है तो कोच भी सुर्खियों में आ जाते हैं. यही हाल जर्मनी के योआखिम लोएव का है. उनसे भी पूछा जा रहा है कि वे कब तक जर्मन टीम को ट्रेनिंग देते रहेंगे.

लोएव का कहना है कि ब्राजील में नतीजा कुछ भी हो वे कम से कम और दो साल जर्मन टीम को कोच करेंगे. उनका कॉन्ट्रैक्ट 2016 में खत्म हो रहा है. 54 वर्षीय लोएव ने 2006 में जर्मन टीम की ट्रेनिंग तब संभाली थी जब वर्ल्ड कप के बाद युर्गेन क्लिंसमन ने यह पद छोड़ दिया था. जर्मन फुटबॉल महासंघ के साथ उन्होंने अपना करार एक बार बढ़ाया है. उनका कहना है कि फ्रांस में यूरो 2016 के साथ खत्म होने वाले अपने करार को वे पूरा करेंगे.

दोस्तों में योगी के नाम से मशहूर लोएव ने जर्मनी को 2006 के बाद से अब तक हुए तीन टूर्नामेंटों में एक फाइनल और दो सेमीफाइनलों में पहुंचाया है. हालांकि अब तक उन्हें वर्ल्ड कप या यूरो कप जीतने में कामयाबी नहीं मिली है लेकिन इस बार ब्राजील में जर्मनी को वर्ल्ड कप का प्रमुख दावेदार समझा जा रहा है. इचना ही नहीं सफलता का भूखा जर्मनी टाइटल के मामले में 18 साल के सूखे को खत्म करने को उतावला है.

ब्राजील में होने वाले वर्ल्ड कप से पहले पोलैंड के खिलाफ एक दोस्ताना मैच से पहले उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा, "यह मेरा इरादा है. हर हाल में 2016 तक. यह वो है जो तय है." इस तरह की अटकलें लगाई जा रही है कि यदि जर्मनी ब्राजील में अपना चौथा वर्ल्ड कप जीत जाता है तो लोएव टीम को छोड़ कर जा सकते हैं. उन्होंने कहा, "यह चीजों को देखने का एक तरीका है, लेकिन यह भी हो सकता है कि वर्ल्ड चैंपियन बनने पर उत्साह का धमाका हो." उन्होंने याद दिलाया कि स्पेन के कोच विंसेंटे डेल बॉस्क ने वर्ल्ड कप जीतने के बाद कहा था कि अब मैं यूरोपीय चैंपियनशिप भी जीतना चाहता हूं.

जर्मन फुटबॉल महासंघ के अध्यक्ष वोल्फगांग नियर्सबाख ने कहा है कि ब्राजील में जर्मनी के मुश्किल में रहने के बावजूद लोएव अपने पद पर रहेंगे. अगले महीने होने वाले वर्ल्ड कप में जर्मनी का अपने ग्रुप में पुर्तगाल, घाना और अमेरिका से मुकाबला है. इस ग्रुप को उतना मुश्किल नहीं माना जा रहा है. नियर्सबाख ने कहा, "हमने कोचिंग टीम का कॉन्ट्रैक्ट इस साफ इरादे से बढ़ाया है कि वे 2016 तक साथ रहें." डीएफबी प्रमुख ने लोएव की तारीफ करते हुए कहा कि यूरो 2012 में सेमी फाइनल में हारने के बावजूद उन्हें कोच की क्षमता पर कभी संदेह नहीं रहा.

एमजे/ओएसजे (रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन