ओबामा ने दक्षिण कोरिया का समर्थन किया | दुनिया | DW | 26.01.2011
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

ओबामा ने दक्षिण कोरिया का समर्थन किया

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने उत्तर कोरिया से कहा है वह परमाणु हथियार त्यागने के अपने वादे को निभाए. कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव को टालने के लिए होने वाली बातचीत से पहले उन्होंने दक्षिण कोरिया का समर्थन किया है.

ओबामा ने उत्तर कोरिया को चेताया

ओबामा ने उत्तर कोरिया को चेताया

दक्षिण कोरिया ने बुधवार को घोषणा की कि वह उत्तर कोरियाई अधिकारियों के साथ बातचीत करेगा. पिछले साल नवंबर में दक्षिण कोरिया के द्वीप पर हुई गोलाबारी के बाद यह दोनों पक्षों के बीच पहली बातचीत है. ओबामा ने अमेरिका कांग्रेस में अपने अहम भाषण में मंगवार को कहा, "कोरियाई प्रायद्वीप के मुद्दे पर हम अपने सहयोगी दक्षिण कोरिया के साथ मजबूती से खड़े हैं. साथ ही उत्तर कोरिया से कहते हैं कि वह परमाणु हथियार त्यागने की अपनी वचनबद्धता पर कायम रहे."

दोनों कोरियाई देशों के अधिकारी 11 फरवरी को सीमावर्ता गांव पनमुंजोम में मिलेंगे और पिछले साल दक्षिण कोरिया के समुद्री पोत को डुबोए जाने और योनप्योग द्वीप हुई गोलाबारी पर चर्चा के लिए शुरुआती सैन्य वार्ता करेंगे. दक्षिण कोरिया ने संकेत दिया है कि अगर उत्तर कोरिया इन हमलों की जिम्मेदार स्वीकार करता है और भविष्य में इस तरह के हमले न करने का वादा करता है तो बातचीत को मंत्रिस्तरीय वार्ता तक ले जाया जा सकता है.

तनाव टालने की चुनौती

उत्तर कोरिया के विदेश मंत्रालय ने दक्षिण कोरिया के प्रस्ताव की तरफ प्रत्यक्ष तौर पर संकेत किए बिना कहा कि वह तनाव को टालने के लिए किसी भी तरह की बातचीत में शामिल होने को तैयार है. सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से कहा है, "हम यह कहते रहे हैं कि हर पक्ष ऐसे कदम उठाने से बचे जिन्हें भड़काऊ कार्रवाई के तौर पर देखा जाए. इसके लिए बातचीत के जरिए विश्वास बढ़ाना होगा और हम इसके लिए तैयार हैं." उत्तर कोरिया दक्षिण कोरिया के जहाज को डुबोने की घटना में शामिल होने से साफ इनकार करता है जबकि द्वीप पर गोलाबारी के लिए वह दक्षिण कोरिया को ही जिम्मेदार बताता है.

दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, "कोरियाई प्रायद्वीप में शांति स्थापित करने और उत्तर और दक्षिण के रिश्तों में सुधार के लिए उत्तर कोरिया को इन प्रस्तावों को स्वीकार करना चाहिए." दक्षिण कोरिया उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम के खात्मे के लिए उसके साथ द्विपक्षीय वार्ता के भी पक्ष में है. उत्तर कोरिया ने क्षेत्रीय ताकतों से कहा है कि वे परमाणु कार्यक्रम खत्म के बदले मिलने वाली मदद के सिलसिले में छह पक्षीय बातचीत को दोबारा शुरू करे. दो साल पहले उत्तर कोरिया इस बातचीत से अलग हो गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन