ऑस्कर में ओसामा! | मनोरंजन | DW | 27.11.2012
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

ऑस्कर में ओसामा!

बिन लादेन की कहानियों का दम अब भी कमजोर नहीं पड़ा है. उसे मारने के ऑपरेशन पर बनी फिल्म पर्दे पर उतरने से पहले ही भारी चर्चा बटोर रही है. फिल्म को ऑस्कर का दावेदार भी माना जाने लगा है.

कैथरीन बिगेलो की ओसामा बिन लादेन को मारने के अभियान पर बनी फिल्म रिलीज होने से पहले ही ऑस्कर की दुनिया में हलचल मचा रही है. कैथरीन 2010 में इराक की जंग पर बनी फिल्म द हार्ट लॉकर के लिए ऑस्कर जीत चुकी हैं. कहा जा रहा है नई फिल्म जीरो डार्क थर्टी के लिए कि उन्हें बहुत सारी गोपनीय जानकारियां दी गई और इसे लेकर खुफिया एजेंसी सीआईए के अंदरूनी हलकों में कानाफूसी भी खूब हो रही है.

कैथरीन कहती हैं कि उन्होंने कोई गोपानीय जानकारी विभाग से नहीं मांगी पर सीआईए के एक अधिकारी और कुछ दूसरे लोगों का इंटरव्यू जरूर किया है. फिल्म की कहानी एक महिला सीआईए विश्लेषक के जरिए चलती है. यह भूमिका जेसिका चैस्टेन ने निभाई है. कैथरीन का कहना है, "फिल्म सीधे स्रोत से मिली जानकारी पर आधारित है इसलिए यह बहुरंगी और बेहद जिंदादिल है साथ ही बेहद करीब और निश्चित रूप से काफी अंदरूनी भी जो मेरे लिए एक फिल्मकार के तौर पर काफी रोमांचित करने वाला था."

बिगेलो और फिल्म के स्क्रिप्ट लिखने वाले मार्क बोल ने बताया कि वो लोग 2001 में अमेरिकी हमले के दौरान बिन लादेन को अफगानिस्तान के तोरा बोरा में पकड़ने की नाकाम कोशिश पर फिल्म बनाने के लिए काम कर रहे थे. मई 2011 में जब राष्ट्रपति बराक ओबामा ने लादेन को मारने का एलान किया तब योजना तुरंत बदल दी गई. बोल का कहना है, "मैंने फोन उठाया और सूत्रों को पकड़ पकड़ कर उनसे यह पता करने में जुट गया कि वो क्या क्या जानते हैं. निश्चित रूप से मैंने काफी होमवर्क किया लेकिन किसी से कोई गोपनीय जानकारी नहीं मांगी. जहां तक मुझे पता है मुझे ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली."

फिल्म महिला सीआईए अधिकारी की आंखों से लादेन को मारने के ऑपरेशन को दोबारा गढ़ती है. फिल्म में एक जगह कुछ पलों के लिए ओबामा भी दिखते हैं. बोल ने बताया कि कुछ महीनों की रिसर्च के बाद उन्हें एक महिला के बारे में पता चला जिसने एक बड़ी भूमिका निभाई थी. ऑपरेशन के दौरान वह जलालाबाद भी गई थी.

फिल्म के कुछ डॉयलाग सीआईए अधिकारी के इंटरव्यू से एक एक शब्द की तरह उठा लिए गए हैं लेकिन कुछ को थोड़ा नाटकीय रूप दिया गया है. लादेन का घर जितना मुमकिन हो सकता था हूबहू वैसा ही बनाने की कोशिश की गई है और इसे जॉर्डन में खड़ा किया गया. फर्श, टाइल, कालीन, फर्नीचर सब कुछ तस्वीरों से मिला कर कॉपी करने की कोशिश की गई है. यहां तक कि दीवारों के निशान भी एबीसी न्यूज के फुटेज से हूबहू उतारे गए हैं.

फिल्म को रिलीज होने से पहले ही इस साल के ऑस्कर के बड़े दावेदारों में माना जाने लगा है. इस फिल्म को पहले री रिलीज हो जाना था लेकिन राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विवादों में फंसने की वजह से इसे दिसंबर में 19 तारीख को पर्दे पर उतारा जा रहा है. ऑस्कर के लिए नामांकन की प्रक्रिया 10 जनवरी से शुरू होगी. लॉस एंजिल्स टाइन ने इसे ऑस्कर के बेहतरीन फिल्म के वर्ग में पांचवें नंबर पर माना है. उधर इंटरटेनमेंट वीकली इसे बेहतरीन फिल्म, निर्देशक, स्क्रिप्ट और अभिनेत्री की होड़ में मान रही है. चैस्टेन पछले साल द हेल्प के लिए सहायक भूमिका के लिए ऑस्कर की दौड़ में थीं.

एनआर/एएम(रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन