एम्बुलेंस पूरी करेगी मरीज की अंतिम इच्छा | दुनिया | DW | 26.07.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

एम्बुलेंस पूरी करेगी मरीज की अंतिम इच्छा

मरीज को अस्पताल ले जाने वाली एम्बुलेंस का काम क्या होना चाहिए? आपका पहला जवाब होगा, उनकी जान बचाना. लेकिन इसके साथ साथ अब ऑस्ट्रेलिया में एम्बुलेंस मरीजों की अंतिम ख्वाहिशों का भी ख्याल रखेंगी.

ऑस्ट्रेलिया में मरीजों की अंतिम इच्छा को लेकर एक फैसला लिया गया है. इस फैसले के मुताबिक अब बेहद बीमारी से जूझ रहे मरीजों की आखिरी इच्छाओं को एम्बुलेंस में काम कर रहे अधिकारी पूरा करेंगे. साल 2017 में क्वींसलैंड में एक ऐसा ही मामला सामने आया था.

दरअसल 2017 में एम्बुलेंस से अस्पताल जा रहे मरीज ने गाड़ी में तैनात अधिकारियों के सामने अंतिम बार समुद्र देखने की इच्छा जाहिर की थी. एम्बुलेंस में तैनात अधिकारी मरीज की इच्छा के मुताबिक उसे अस्पताल से पहले समुद्र दिखाने दे लिए. दिल को छू लेने वाले इस पल को कैमरे में भी कैद किया गया जिसमें स्ट्रेचर पर लेटा एक मरीज समंदर को देख रहा है.  

अब क्वींसलैंड की राज्य सरकार ने घोषणा की है कि वह एम्बुलेंस को मरीजों की अंतिम इच्छाओं को पूरा करने के लिए समर्पित कर रही है. मसलन मरीजों को अपने पालतू जानवरों या बच्चों से मिलवाना, उन्हें आर्ट गैलरी ले जाना या कोई म्यूजिम दिखाना जैसे काम एम्बुलेंस अधिकारी कर सकते हैं.

क्वींसलैंड के स्वास्थ्य मंत्री स्टीवन माइल्स ने कहा, "लोगों की आखिरी ख्वाहिशों को पूरा करना बेहद ही चुनौती भरा होता है. क्योंकि उस स्थिति में आप एक ऐसे व्यक्ति को संभाल रहे होते हैं जो ना चल सकता है, ना बैठ सकता है, यहां तक कि कई बार उन्हें ऑक्सीजन की भी जरूरत होती है." ऑस्ट्रेलिया में लिया जा रहा यह कदम काफी कुछ नीदरलैंड्स में चल रहे कार्यक्रम से प्रेरित है.

_______________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

एए/आईबी (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन