एनडीए में दरार, टीडीपी मंत्री देंगे इस्तीफा | दुनिया | DW | 08.03.2018
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

एनडीए में दरार, टीडीपी मंत्री देंगे इस्तीफा

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा न दिए जाने से नाराज तेलुगु देशम पार्टी एनडीए से अलग होने का एलान कर सकती है. केंद्र में पार्टी के दोनों मंत्री इस्तीफा देंगे. नायडू सरकार में दो बीजेपी मंत्री भी इस्तीफा दे रहे हैं.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की तरफ से आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने से इनकार करने के चंद घंटों बाद ही तेलुगु देशम पार्टी ने एनडीए से नाता तोड़ने के संकेत दिए. टीडीपी अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने घोषणा की कि मोदी सरकार में टीडीपी के दोनों मंत्री अशोक गजपति और वाईएस चौधरी गुरुवार को इस्तीफा देंगे. हालांकि नायडू ने कहा है कि वह केंद्र की प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे हैं  जाहिर है कि उन्होंने गठबंधन में रहने के विकल्प अभी खुले रखे हैं.

बुधवार देर रात पार्टी विधायकों की बैठक में नायडू ने यह फैसला किया. उन्होंने कहा, "मैंने प्रधानमंत्री से बात करने की कोशिश की ताकि शिष्टाचार के नाते उन्हें गठबंधन छोड़ने के फैसले से अवगत करा सकूं लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई. पता नहीं मैंने कौन सी गलती कर दी." उन्होंने मोदी सरकार पर केंद्र-राज्य के रिश्तों की अनदेखी करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, "केंद्र हमारे लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है. लेकिन राज्य के हित हमारे लिए सबसे अहम हैं." मुख्यमंत्री नायडू ने कहा कि केंद्र ने राज्य के साथ अन्याय किया है.

दूसरी तरफ,  भारतीय जनता पार्टी के दो मंत्री गुरुवार को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने जा रहे हैं. दोनों मंत्री राज्य की विधानसभा में वित्त मंत्री वाई रामकृष्णनुडू के 2018-19 का बजट पेश करने से पहले इस्तीफा देंगे. कमिनेनी श्रीनिवास और पी मणिक्याला राव ने अमरावती में शुरू हुई मंत्रिमंडल की बैठक से दूरी बना ली है. इस बैठक में बजट को औपचारिक रूप से मंजूरी दी जाएगी. श्रीनिवास ने कहा कि वह और राव अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री नायडू को सौंपेंगे और विधानसभा में प्रश्नकाल के बाद इसका ऐलान करेंगे.

अशोक कुमार

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन