एग्जिट पोल में मोदी की एनडीए को पूर्ण बहुमत | भारत | DW | 19.05.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

भारत

एग्जिट पोल में मोदी की एनडीए को पूर्ण बहुमत

भारत में संसदीय चुनावों का सातवां और आखिरी चरण समाप्त हो गया. इसके साथ ही एग्जिट पोल भी जारी कर दिए गए हैं. ज्यादातर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एनडीए को बहुमत सीटें दी गई हैं.

आईएएनएस-सीवोटर एग्जिट पोल के नतीजे बता रहे हैं कि नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन एनडीए लोकसभा चुनाव 2019 में 287 सीटें जीतकर दोबारा सत्ता में वापसी करने जा रही है. टाइम्स नाउ एक्जिट पोल में एनडीए को 306 और कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन यूपीए को 132 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है. नेता-न्यूजएक्स एग्जिट पोल में एनडीए को 242 और यूपीए को 164 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है.

चुनाव के नतीजे आने से पहले जारी आईएएनएस-सीवोटर सर्वेक्षण के अनुसार, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को 236 सीटें मिलने की संभावना है. पिछले आम चुनाव 2014 में एनडीए को 337 सीटें मिली थीं जिनमें भाजपा को 283 सीटों पर जीत मिली थी. सर्वेक्षण के अनुसार, कांग्रेस की अगुवाई में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) को 128 सीटें मिल सकती हैं, जिनमें कांग्रेस को 80 सीटें मिलने की संभावना है. पिछले आम चुनाव 2014 में यूपीए को 59 सीटें मिली थीं, जिनमें कांग्रेस को महज 44 सीटें मिली थीं.

यह अनुमान 19 मई के शाम चार बजे तक प्राप्त आंकड़ों के आधार पर है. सर्वेक्षण के अनुसार, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) गठबंधन को 40 सीटें मिल सकती हैं जबकि भाजपा को 38 सीटें मिलने की संभावना है. पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने प्रदेश की 71 सीटों पर जीत हासिल की थी. देशभर में एनडीए को 42.3 फीसदी वोट मिलने की संभावना है. वहीं, यूपीए को 29.6 फीसदी जबकि अन्य को 28.1 फीसदी वोट मिल सकता है.

सर्वेक्षणों के अनुसार एनडीए को सबसे ज्यादा बढ़त पश्चिम बंगाल में मिलने की संभावना है जहां पिछले लोकसभा चुनाव में प्राप्त दो सीटों से इसका आंकड़ा बढ़कर 11 सीटों तक जा सकता है. इसके बाद ओडिशा में भी एनडीए को नौ सीटों का फायदा मिल सकता है और इसकी सीटों का आंकड़ा प्रदेश में 10 तक जा सकता है. पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को 29 सीटें मिलने की संभावना है. पिछले लोकसभा चुनाव में तृणमूल को 34 सीटें मिली थीं.

बिहार में एनडीए को 33 सीटें मिलने की संभावना है जिनमें 13 सीटों पर भाजपा को जीत मिल सकती है. एनडीए के अन्य सहयोगी जनता दल-युनाइटेड (जेडीयू) और लोक जनतांत्रिक पार्टी (एलजेपी) को 20 सीटें मिल सकती हैं. आंध्रप्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस को 11 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की गई है, तो टीडीपी को 14 सीटें मिलने की संभावना है. ओडिशा में बीजू जनता दल (बीजेडी) को 11 सीटें मिल सकती हैं. अगर भाजपा चुनाव के बाद वाईएसआर कांग्रेस, बीजेडी, टीआरएस से गठबंधन करती है, तो एनडीए की सीटों का आंकड़ा 323 तक जा सकता है.

आईएएनएस/एमजे

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

कैसी है केदारनाथ की गुफा जिसमें नरेंद्र मोदी ने ध्यान लगाया

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन