इतिहास में आज: 31 जुलाई | ताना बाना | DW | 30.07.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: 31 जुलाई

उन्होंने आज ही के दिन अपने नाम अब तक के सबसे ज्यादा ओलंपिक मेडल्स कर लिए थे. फ्लाइंग फिश के नाम से जाने जाने वाले माइकल फेल्प्स ने पिछले साल आज ही के दिन इस कारनामे को अंजाम दिया था.

दुनिया के सबसे कामयाब एथलीट के रूप में जाने जाने वाले 28 साल के अमेरिकी तैराक माइकल फेल्प्स ने 2012 लंदन ओलंपिक में 6 मेडल जीते. इसके साथ ही वह सबसे ज्यादा कुल 22 ओलंपिक मेडल जीतने वाले खिलाड़ी बन गए. उनसे पहले 48 साल तक यूक्रेन की जिमनास्ट लारिसा लातीनीना के नाम 18 ओलंपिक पदक जीतने का रिकॉर्ड था. तैराकी के एक ही मुकाबले में लगातार तीन साल तक ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले भी फेल्प्स एकलौते खिलाड़ी हैं. लंदन ओलंपिक के बाद ही उन्होंने पेशेवर तैराकी से रिटायरमेंट ले लिया.

2008 बीजिंग ओलंपिक के बाद फेल्प्स ने तैराकी को बढ़ावा देने वाली अपनी संस्था माइकल फेल्प्स फाउंडेशन की शुरुआत की थी. रिटायरमेंट पर भी उन्होंने कहा कि वह अब आगे अपनी संस्था पर ध्यान देना चाहते हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लांग कोर्स पूल यानी 50 मीटर में उन्होंने अभी तक कुल 71 मेडल जीते जिसमें से 57 गोल्ड और 11 सिल्वर के अलावा तीन कांस्य पदक भी शामिल हैं. अपने रिकॉर्ड के कारण उन्हें सात बार वर्ल्ड स्विमर ऑफ द ईयर और नौ बार अमेरिकन स्विमर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड दिया गया.

DW.COM

विज्ञापन