इतिहास में आज: चार मार्च | ताना बाना | DW | 04.03.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आज: चार मार्च

अमेरिका के तीसरे सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले शहर शिकागो को आज ही के दिन 1837 में शहर का दर्जा मिला था.

12 अगस्त 1833 में शिकागो की जनसंख्या 200 के आसपास थी. सात साल के अंदर ये बढ़कर 4,000 हो गई. शनिवार चार मार्च 1837 में शिकागो को सिटी यानि शहर का दर्जा मिला. आने वाले कई दशकों तक, बहुत तेजी से इस इलाके की जनसंख्या बढ़ती रही. शिकागो अमेरिका के इलिनॉयस राज्य का हिस्सा है.

1971 में शिकागो में लगी भीषण आग ने करीब चार मील लंबा और एक मील चौड़ा हिस्सा खाक कर दिया. हालांकि शहर का काफी हिस्सा, जिसमें रेल नेटवर्क भी शामिल था, इस आग से बच गया. लकड़ी से बनी इमारतों के खाक हो जाने के कारण एक नए शिकागो का निर्माण शुरू हुआ, जिसमें इस्पात और पत्थरों का इस्तेमाल किया गया. ऐसा कहा जाता है कि पुनर्निमाण के इस दौर में 1885 में यहां दुनिया का पहली स्काईस्क्रैपर यानी बहुमंजिला इमारत बनी. इसमें इस्पात का इस्तेमाल किया गया था.

बढ़ती अर्थव्यवस्था ने यूरोप सहित अमेरिका से भी कई कुशल कामगारों और अप्रवासियों को आकर्षित किया. 1900 में शिकागो की करीब 77 फीसदी जनसंख्या विदेशी मूल की या विदेशी थी. न्यू यॉर्क सिटी, लॉस एंजेलिस के बाद यह अमेरिका का तीसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर है. यहां (शिकागो सिटी में) 27 लाख लोग रहते हैं. जबकि शिकागो मेट्रोपोलिटन इलाके की जनसंख्या 95 लाख के करीब है.

शिकागो नाम अमेरिका के मियामी इलिनॉयस भाषा के शिकावा नाम से आया है. इसका मतलब होता है, जंगली लहसुन या जंगली प्याज. इस जगह का पहला उल्लेख 1679 में रॉबर्ट डे लासाले के संस्मरणों में शेकागोऊ के नाम से मिलता है.

विज्ञापन