इतिहास में आजः 2 जून | ताना बाना | DW | 01.06.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

इतिहास में आजः 2 जून

2 जून 1953 को क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय का राजतिलक किया गया. इसी के साथ वह यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड सहित कॉमनवेल्थ देशों की रानी बनी.

फिलहाल वह जमाइका, बार्बाडोस, बहामा, ग्रेनाडा, पापुआ न्यूगिनी, सोलोमन द्वीप, तुवालु, सहित 16 देशों की रानी हैं. संवैधानिक तौर पर रानी होने के बावजूद उनका पद औपचारिक है.

छह फरवरी 1952 को उनके पिता जॉर्ज षष्ठम की मृत्यु के बाद एलिजाबेथ के रानी बनने की घोषणा की गई.

21 अप्रैल 1926 को लंदन में पैदा हुई एलिजाबेथ की पढ़ाई घर पर ही हुई. 1936 में पिता के गद्दी संभालने के बाद यह साफ ही था कि एलिजाबेथ उनकी वारिस होंगी. 1947 में उन्होंने ड्यूक ऑफ एडिनबरा के प्रिंस फिलिप से शादी की. उनके चार बच्चे हैं, चार्ल्स, एन, एंड्र्यू और एडवर्ड.

1997 में उनकी पूर्व बहू डायना की मौत ने राजघराने को सार्वजनिक आलोचना के कटघरे में खड़ा कर दिया. लेकिन उनकी रानी के तौर पर लोकप्रियता बनी हुई है.

2012 में उन्होंने रानी के तौर पर 60 साल पूरे किए. वह इंग्लैंड में सबसे ज्यादा समय राज करने वालों में दूसरे नंबर पर हैं. उनसे पहले 63 साल 216 दिन राज करने वाली रानी विक्टोरिया थी. जिन्होंने 20 जून 1837 से 22 जनवरी 1901 तक राज किया.

कम इंटरव्यू देने वाली रानी एलिजाबेथ के निजी जीवन के बारे में लोगों को बहुत जानकारी नहीं है.

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन