इंग्लैंड के लिए मेंडिस काफ़ी हैं: श्रीलंका | खेल | DW | 13.05.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

इंग्लैंड के लिए मेंडिस काफ़ी हैं: श्रीलंका

सेमीफाइनल से ठीक पहले श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा ने इंग्लैंड को चेताया. कहा, इंग्लैंड का मेंडिंस के जादू में फंसना तय है. सेंट लूसिया में आज होगी दोनों टीमों की भिड़ंत.

default

इंग्लैंड ने श्रीलंका के रहस्यमयी स्पिनर अजंता मेंडिस का सामना अब तक सिर्फ़ एक बार किया है, वह भी पिछले साल. ऐसे में श्रीलंकाई कप्तान को उम्मीद है कि मेंडिस के ख़िलाफ़ अनुभवहीनता की वजह से इंग्लैंड लड़खड़ा सकता है. बुधवार को श्रीलंकाई कप्तान ने कहा, ''वह एक उच्च श्रेणी के स्पिनर हैं और मुझे लगता है कि शायद इंग्लैंड ने उन्हें एक बार ही खेला है.''

इंग्लैंड के कप्तान पॉल कोलिनवुड भी मेंडिस फैक्टर से कुछ चिंता में हैं. सेमीफ़ाइनल से पहले कोलिनवुड ने कहा, ''हम में से कुछ ही उनके ख़िलाफ़ खेला है. ज़ाहिर है एक हमारे लिए एक चिंता की बात है. हमारे कई बल्लेबाज़ उनके एंगल और गेंदों में बदलाव से अनजान हैं. लेकिन जो लोग उन्हें खेल चुके हैं उनकी सलाह काम आ रही है.''

England vs India Twenty20 World Cup cricket match

फॉर्म में इंग्लैंड

दोनों टीमें एक दूसरे की ताकत जानती हैं. श्रीलंका का बड़ा दांव स्पिनरों पर लगा है. टी-20 वर्ल्ड कप में अब तक इंग्लैड ने ठोस बल्लेबाज़ी की है. ऐसे में अगर श्रीलंकाई स्पिनर नहीं चले तो एशियाई टीम मुश्किल में आ जाएगी. स्पिनरों के अलावा संगकारा को तेज़ गेंदबाज़ मलिंगा से भी ख़ासी उम्मीदें हैं. मलिंगा फ़ॉर्म में हैं और टीम को लगता है कि उनकी नीची रहने वाली तेज़ रफ़्तार गेंदें विपक्षी टीम को मुश्किल में डालेंगी.

मैच का नतीजा काफी कुछ पिच पर निर्भर करेगा. श्रीलंकाई कप्तान का मानना है कि अगर पिच बहुत तेज़ और उछाल वाली नहीं रही तो उन्हें फ़ायदा होगा. इंग्लैंड ठीक इसका उल्टा सोच रहा है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री

विज्ञापन