आवाज ही पहचान है | विज्ञान | DW | 30.04.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

आवाज ही पहचान है

क्या आपने कभी सोचा है कि किसी अंजान व्यक्ति से फोन करते वक्त आप उसकी आवाज के आधार पर उसकी छवि बना लेते हैं? एक मीठी आवाज से फोन करने वाला व्यक्ति आपको आकर्षित करेगा और खराब आवाज सुनने पर आप शायद फोन रख भी दें.

प्लोस वन नाम के एक ब्रिटिश जर्नल ने एक शोध किया है. इसमें पता चला है कि जानवरों और पक्षियों की तरह इंसान को भी पुरुषों की भारी आवाज और महिलाओं की पतली ऊंची आवाज अच्छी लगती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सुनने वाले बोलने वाले व्यक्ति की आवाज से उसके शरीर के आकार को आंकते हैं.

प्रयोग के दौरान अंग्रेजी बोलने वाले दस लोगों को एक महिला की आवाज सुनाई गई. उसने कहा, "गुड लक विद यूअर एग्जाम्स." सुनने वालों से पूछा गया कि उन्हें यह आवाज कितनी आकर्षक लगी. इस वाक्य को बोलने वाली महिला ने तीन अलग अलग तरीकों से रिकॉर्ड किया. फिर इन आवाजों को डिजिटल तौर पर बदलकर एक छोटे आकार की महिला और खुशी वाली आवाज या बड़े आकार वाली महिला और गुस्से वाली आवाज में ढालने की कोशिश की गई. महिला श्रोताओं को इसी तरह अदल बदल कर पुरुषों की आवाज सुनाई गई.

शोधकर्ताओं ने पता लगाया कि पुरुष श्रोताओं को छोटे आकार वाली महिलाओं की आवाज ज्यादा पसंद आई. जबकि महिला श्रोताओं को भारी आवाज वाले और बड़ा आकार दर्शाने वाले पुरुष पसंद आए. वैज्ञानिक इस बात से भी हैरान हुए कि महिलाओं को पुरुषों की वह आवाज ज्यादा पसंद आए जो बहुत साफ नहीं थी. इसकी एक वजह यह हो सकती है कि महिलाएं ऐसी आवाज को कम आक्रमकता से जोड़ती हैं.

इससे पहले ऐसा शोध जानवरों के साथ किया गया जिसमें पता लगा कि शेर की दहाड़ आम तौर पर एक बड़े शरीर का संकेत है. साथ ही इससे किसी भी जानवर के प्रभुत्व और आक्रमकता का पता लग सकता है. ऊंचे स्वरों वाली आवाजें छोटे शरीर और डरने वाले जानवरों की ओर संकेत करती हैं.

शोध कर रहे वैज्ञानिक यी शू और उनकी टीम ने यह भी पता किया है कि महिलाओं को पुरुषों की कम आवृति वाली आवाज ज्यादा पसंद है. हो सकता है कि यह मानव की उत्पत्ति से जुड़ी हो क्योंकि भारी आवाज खतरे से बचा भी सकती है. साथ ही जब किसी महिला को कोई पुरुष आकर्षक लगता है तो वह उससे ऊंची आवाज में बात करने लगती है.

पुरुषों और महिलाओं की आवाज में फर्क को समझने का एक तरीका यह है कि कई जानवर और पक्षी अपनी आवाज के जरिए अपनी पहचान बता देते हैं. हो सकता है कि पुरुषों में उत्पत्ति के दौरान उनकी आवाज में कई बदलाव हुए हों. अपनी आवाज के जरिए वह महिलाओं को अपने शरीर के बड़े आकार का संकेत दे सकते हैं और अपने लिए एक महिला हासिल कर सकते हैं. ऐसा ही शायद महिलाओं की उत्पत्ति के दौरान हुआ हो. पतली आवाज से उन्होंने पुरुषों को अपनी ओर खींचना सीखा.

रिपोर्टः एमजी/एनआर(डीपीए)

DW.COM