आर्मिन लाशेट चुने गए अंगेला मैर्केल की पार्टी सीडीयू के नए नेता | दुनिया | DW | 16.01.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

आर्मिन लाशेट चुने गए अंगेला मैर्केल की पार्टी सीडीयू के नए नेता

पार्टी अध्यक्ष पद से अंगेला मैर्केल के इस्तीफे के बाद से ही उनकी पार्टी सीडीयू मुश्किल में थी. सीडीयू पार्टी प्रमुख बनने की लंबी दौड़ में अब नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया प्रांत के मुख्यमंत्री आर्मिन लाशेट ने बाजी मार ली है.

59 वर्षीय आर्मिन लाशेट को जर्मनी की कंजरवेटिव पार्टी क्रिश्चियन डेमोक्रेटिक यूनियन का नया अध्यक्ष चुना गया है. शनिवार को पार्टी के एक डिजिटल सम्मेलन के दौरान वे दूसरे चरण में चुने गए. उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी फ्रेडरिक मैर्त्स को 466 के मुकाबले 521 वोटों से हराया. तीसरे उम्मीदवार और पार्टी के विदेशनैतिक प्रवक्ता नॉर्बर्ट रोएटगेन पहले ही चरण में ही दौड़ से बाहर हो गए थे. मैर्त्स को पहले दौर के मतदान में 385 वोट मिले, लाशेट को 380 और रोएटगेन को 224 वोट.

विजेता उम्मीदवार लाशेट 2017 से जर्मनी के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया के मुख्यमंत्री हैं. वे अंगेला मैर्केल की मध्यमार्गी नीति के समर्थक हैं. अध्यक्ष चुने जाने के बाद अपने भाषण में लाशेट ने कहा है कि आगामी क्षेत्रीय चुनावों में पार्टी के अच्छे प्रदर्शन के लिए सारे प्रयास करेंगे और चांसलर की नीतियों का समर्थन करते रहेंगे. उन्होंने कहा, "अभी हमारे सामने और अधिक महत्वपूर्ण चुनाव हैं."

CDU Digitaler Parteitag Laschet wird Vorsitzender

डिजिटल पार्टी कांग्रेस में लाशेट की जीत

पार्टी में एकता की कोशिश

मतदान से पहले पार्टी कांग्रेस के प्रतिनिधियों के सामने अपने भाषण में लाशेट ने पार्टी की एकता के महत्व पर जोर दिया. उन्होंने इस पर जोर दिया कि सीडीयू को चलाने के लिए कंपनी सीईओ की आवश्यकता नहीं है, बल्कि एक टीम कप्तान की जो पार्टी को नेतृत्व दे और एकजुट रखे. पार्टी प्रतिनिधियों ने उन्हें चुनकर उनकी इस बात का समर्थन किया है.

सीडीयू की सहोदर पार्टी बवेरिया के क्रिश्चियन सोशल यूनियन, सीएसयू के मार्कुस जोएडर ने ट्वीट कर लाशेट को बधाई देते हुए कहा, "मैं आपके साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं. साथ मिलकर हम यूनियन पार्टियों की सफलता की कहानी जारी रखेंगे."

एक लोकप्रिय और प्रभावशाली राजनेता के रूप में बवेरिया के मुख्यमंत्री जोएडर सीडीयू-सीएसयू पार्टी का चांसलर उम्मीदवार तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. हाल के दिनों में वे पसंदीदा उम्मीदवार के रूप में उभरे हैं.

आर्मिन लाशेट 2012 के बाद से सीडीयू पार्टी के पांच उपाध्यक्षों में से एक रहे हैं. देश के राइन इलाके से आने वाले कैथोलिक नेता हमेशा से अलग अलग पार्टी अध्यक्षों के लिए एक विश्वसनीय सहयोगी रहे हैं. अंगेला मैर्केल को 2018 तक और उनके बाद उनकी उत्तराधिकारी आनेग्रेट क्राम्प-कारेनबावर पार्टी प्रमुख के रूप में अपने उत्तराधिकारी का समर्थन मिलता रहा है. जब 2015 में जर्मनी में सैकड़ों हजारों शरणार्थियों के आने के विरोध में मैर्केल को अपनी पार्टी के अंदर कड़े विरोध का सामना करना पड़ा, आर्मिन लाशेट ने उनका पूरी तरह साथ दिया.

समझौतावादी मध्यमार्ग

लाशेट का कहना है कि वह "एक संयमित दृष्टिकोण और चरमवादी फैसलों से बचने के पक्षधर हैं." ये एक ऐसा राजनीतिक रुख है जो "लोगों की ओर मुड़ता है और उनकी ओर अपनी पीठ नहीं फेरता." आर्मिन लाशेट सामाजिक सहिष्णुता और सामाजिक बाजार अर्थव्यवस्था पर जोर देते हैं. पार्टी अध्यक्ष पद के लिए तीन दावेदारों में से लाशेट अकेले थे जो पहले पार्टी के लिए प्रांतीय स्तर पर नेता के रूप में चुनाव जीत चुके हैं और उन्हें सरकार चलाने का अनुभव भी है. 

Bildkombo CDU Vorsitz Stichwahl Merz Laschet

अपने भाषण से आर्मिन लाशेट ने प्रतिनिधियों को लुभाया और फ्रीडरिष मैर्त्स को पछाड़ा

फरवरी 2019 में आर्मिन लाशेट ने जर्मनी के 40 वर्षीय स्वास्थ्य मंत्री येंस श्पान के साथ एक गठबंधन बनाया और पार्टी कांग्रेस के कुछ दिन पहले "#Impulsex21" नाम से एक 10-सूत्री कार्यक्रम जारी किया. इसमें उन्होंने "दाईं ओर एक स्पष्ट सीमा" और कुछ वाम-झुकाव वाले कर्मचारी संघ तथा रूढ़िवादी आर्थिक धड़े के साथ पार्टी को मुख्यधारा के लोगों की पार्टी बनाने पर जोर दिया. लाशेट और श्पान ने कहा कि वे "2020 के दशक को जर्मनी के आधुनिकीकरण का दशक बनाने की आकांक्षा रखते हैं, नई आर्थिक गतिशीलता, व्यापक सुरक्षा, उच्च कोटि का समान शैक्षिक अवसर." वे मुश्किल झेल रही अर्थव्यवस्था को नए बोझ से बचाना चाहते हैं, संघीय स्तर पर एक डिजिटल मंत्रालय की स्थापना चाहते हैं, और "अपराध और उग्रवाद पर शून्य सहिष्णुता" दिखाना चाहते हैं. 

यूरोप और ट्रांस अटलांटिक संबंधों के समर्थक

विदेश नीति के संदर्भ में, लाशेट ने यूरोपीय संघ के साथ-साथ पार्टी को ट्रांस अटलांटिक मुद्दों पर जोर देने की वकालत की. वे जलवायु और व्यापार नीति पर अमेरिका के साथ अधिक सहयोग पर जोर देंगे. वे फैसले लेने में अधिक सक्षम यूरोपीय संघ और फ्रेंच-जर्मन सहयोग में वृद्धि के समर्थक हैं. अमेरिका में नेतृत्व में बदलाव लाशेट के अनुरूप होगा, उन्होंने इसे "लोकतंत्र की जीत" कहा है. उन्होंने काफी समय से पेरिस में राजनीतिक नेतृत्व के साथ निकट संपर्क बनाए रखा है और अक्सर फ्रांसीसी राजधानी का दौरा करते रहे हैं. वे पिछले दो वर्षों से फ्रेंच-जर्मन सांस्कृतिक संबंधों के लिए जर्मनी के प्रतिनिधि हैं.

वीडियो देखें 04:58

जर्मन चांसलर के 15 साल

प्रसिद्ध इंजीनियरिंग कॉलेज के शहर आखेन में जन्मे लाशेट अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं. प्रशिक्षित वकील और पत्रकार रहे लाशेट 1994 से 1998 तक जर्मनी की संघीय संसद के सदस्य थे और 1999 और 2005 में वे यूरोपीय संसद के सदस्य थे. 2010 से लाशेट ने नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया की विधानसभा के सदस्य हैं. पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में उनके नेतृत्व में सीडीयू ने 2017 में विधानसभा चुनाव जीता और व्यापार समर्थक फ्री डेमोक्रेटिक पार्टी (एफडीपी) के साथ गठबंधन सरकार बनाई. नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया में जीत उल्लेखनीय थी क्योंकि जर्मनी के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य में पिशासन किया था. उनकी जीत 2017 के संघीय चुनावों से कुछ समय पहले हुई थी और इसने केंद्रीय चुनावों में सीडीयू को गति दी थी.

हार का अनुभव और दृढ़ता

लाशेट का राजनीतिक जीवन सिर्फ कामयाबी की कहानी नहीं रहा है. उन्होंने अपनी राजनीति की राह पर हार भी देखी है. 1998 में बुंडेस्टाग के चुनाव में वे हार गए थे. 2010 में वे अपने राज्य में पार्टी प्रमुख की दौड़ में नॉर्बर्ट रोएटगेन से हार गए. दो साल बाद प्रांतीय चुनावों में पार्टी की हार के बाद लाशेट ने जिम्मेदारी संभाली और अब 11 साल बाद राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी का नेतृत्व संभाल रहे हैं. इन दोनों उदाहरणों से पता चलता है कि लाशेट प्रतीक्षा कर सकता है और उनमें दृढ़ता है.

Deutschland Armin Laschet 2005

हार का भी अनुभव है आर्मिन लाशेट को

पार्टी प्रमुख के पद पर आर्मिन लाशेट अंगेला मैर्केल के दूसरे उत्तराधिकारी हैं. जो कोई भी पारंपरिक रूप से इस पद पर होता है, वह चांसलर पद के लिए पार्टी का स्वाभाविक उम्मीदवार होता है. और अगर क्रिश्चियन डेमोक्रेट्स संसदीय चुनावों में बहुमत हासिल कर सकते हैं, तो उनका चांसलर बनना तय होगा. लेकिन क्या लाशेट चांसलर की उम्मीदवारी चाहते हैं या नहीं यह लंबे समय से स्पष्ट नहीं है. वैसे, उन्होंने कुछ दिन पहले ये जरूर कहा था, "एक राज्य प्रमुख जो 1.8 करोड़ की आबादी का सफलतापूर्वक शासन करता है, वह जर्मनी का चांसलर भी हो सकता है."

उम्मीदवार दो जर्मन राज्यों में होने वाले क्षेत्रीय चुनावों के बाद ही तय होना है, जो अब से दो महीने बाद होंगे. फैसला सीडीयू की सहोदर पार्टी क्रिश्चियन सोशल यूनियन के प्रमुख मार्कुस जोएडर के साथ मिलकर किया जाएगा. बवेरिया राज्य में सीडीयू की सहोदर पार्टी के प्रमुख ने लगातार इन अटकलों का खंडन किया है कि वे रूढ़िवादी गठबंधन का चांसलर उम्मीदवार बनना चाहते हैं. लेकिन जर्मन सट्टेबाजों ने अपनी सूची में उन्हें सबसे ऊपर रखा है.

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन