आदर्श सोसाइटी: बड़े घरों पर छापे पड़े | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 30.01.2011
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

जर्मन चुनाव

आदर्श सोसाइटी: बड़े घरों पर छापे पड़े

आदर्श सोसाइटी घोटाले में केस दर्ज करने के कुछ ही दिनों के भीतर सीबीआई ने छापेमारी शुरू कर दी है. रविवार को महाराष्ट्र और बिहार में कई बड़े लोगों के घरों पर छापे मारे गए.

अशोक चव्हाण

अशोक चव्हाण

सीबीआई ने महाराष्ट्र और बिहार में छापे मारे. इनमें एक रिटायर्ड आर्मी अफसर रिटायर्ड ब्रिगेडियर एमएम वांचू और कांग्रेस के नेता केएल गिडवाणी शामिल हैं. इसके अलावा सोसाइटी के सचिव आरसी ठाकुर के ठिकानों पर भी छापे मारे गए हैं.

सीबीआई ने एक दिन पहले ही 13 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इनमें महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण का नाम भी शामिल है. चव्हाण को इन्हीं आरोपों के चलते पद से इस्तीफा देना पड़ा. सीबीआई के अफसर ने बताया, “बिहार, नागपुर और ठाणे में ठाकुर के घरों पर छापे मारे गए हैं. पुणे में वांचू के घर की तलाशी हुई है और मुंबई में गिडवाणी के घर की तलाशी ली गई है. आदर्श सोसाइटी के दफ्तर में भी तलाशी ली गई.”

सूत्रों के मुताबिक ठाकुर, वांचू और गिडवाणी ही आदर्श सोसाइटी को बनाने वालों में सबसे आगे थे. इन तीनों पर किसी और की जमीन पर कब्जा करने के आरोप लगाए गए हैं. ठाकुर मुंबई में डिफेस एस्टेट ऑफिस में एसडीओ थे. कांग्रेस के पूर्व विधान परिषद सदस्य गिडवाणी सोसाइटी के मुख्य प्रमोटर थे.

इन तीनों का नाम एफआईआर में शामिल है. इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण, लेफ्टिनेंट जनरल पीके रामपाल (रिटायर्ड), मेजर जनरल एआर कुमार, मेजर जनरल टीके कौल, पूर्व मुख्य सचिव (शहरी विकास) रमानंद तिवारी, पूर्व मुख्य सचिव सुभाष लाला और ब्रिगेडियर आरसी शर्मा (रिटायर्ड) को भी नामजद किया गया है.

आदर्श सोसाइटी कारगिल शहीदों के नाम पर ली गई जमीन पर बनी है. लेकिन आरोप हैं कि इस सोसाइटी में सेना और प्रशासन के अफसरों और नेताओं ने अपने रिश्तेदारों को फ्लैट दे दिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ईशा भाटिया

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन