आजाद विचारों के लिए ब्लॉग्स को सम्मान | दुनिया | DW | 28.06.2012
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

आजाद विचारों के लिए ब्लॉग्स को सम्मान

बॉन में डॉयचे वेले के ग्लोबल मीडिया फोरम के आखिरी दिन बॉब्स अवॉर्ड्स दिए गए. इन पुरस्कार के लिए तीन हजार से अधिक ब्लॉग्स के बीच कड़ी टक्कर हुई.

इनमें से छह को पुरस्कार के लिए चुना गया. पुरस्कार समारोह के लिए उन्हें बॉन बुलाया गया. 'रिपोर्टर्स विदाउट बॉरडर्स' का पुरस्कार बांग्लादेश के ब्लॉगर अबू सुफियान को दिया गया.

Abu Sufian, Preisträger in der Kategorie Reporters Without Borders Award, The BOBs 2012

बांग्लादेश के अबू सुफियान

अबू सुफियान अपने ब्लॉग में सामाजिक और राजनीतिक समस्याओं के बारे में लिखते हैं. उन्होंने कई बार सरकार का पर्दाफाश किया है. ज्यूरी ने पुरस्कार देते हुए कहा कि अबू ऐसा कर के अपनी जान दांव पर लगा रहे हैं. अबू ने भी माना कि उनका काम जोखिम भरा है, "लेकिन ऐसे लोगों की जरूरत है जो इस चुनौती को स्वीकार कर सकें और मैं उन्हीं में से एक हूं."

सर्वश्रेष्ठ ब्लॉग

सर्वश्रेष्ठ ब्लॉग का पुरस्कार 'विंडो ऑफ एंग्विश' को दिया गया. इस ब्लॉग को ईरान के अरश सिगारची चलाते हैं. सिगारची ज्यूरी और पाठकों दोनों की ही पसंद रहे. फारसी का यह ब्लॉग ईरान में काफी लोकप्रिय है.

Arash Sigarchi, Hauptgewinner The BOBs 2012

ईरान के अरश सिगारची

ब्लॉग के कारण उन्हें कई बार गिरफ्तार किया गया. फिर उन्हें चौदह साल की कैद सुनाई गई. बाद में इसे कम कर के तीन साल कर दिया गया. सिगारची को कैंसर भी है. लेकिन न ही उनकी बीमारी और न ही कैद उन्हें अपने काम से रोक पाई. ज्यूरी के सदस्य अरश कमंगीर ने उनके बारे में कहा, "हमारे लिए अरश एक ऐसे व्यक्ति हैं जो आम लोगों और पत्रकारों के बीच की दूरी को खत्म करते हैं. उनमें वह सब है जो एक ब्लॉगर में होना चाहिए. साथ ही वह चीजों का आंकलन भी करते हैं लेकिन फिर भी उन्हें वैसे ही दिखाते हैं जैसी वे हैं." सिगारची अमेरिका से इस ब्लॉग को चलाते हैं.

मिस्र और सीरिया से

समाज की भलाई के लिए तकनीक के सर्वोत्तम इस्तेमाल का पुरस्कार दिया गया मिस्र के ब्लॉग 'हेरैसमैप' को. इस ब्लॉग पर महिलाएं बिना अपना नाम बताए यौन उत्पीड़न के बारे में लिखती हैं.

Rebecca Chiao, Preisträgerin in der Kategorie Best use of technology for social good, The BOBs 2012

मिस्र की रेबेका चिआओ

इस ब्लॉग का मकसद मिस्र के समाज में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को लेकर जागरूकता फैलाना है. ब्लॉग पर एक नक्शे में देखा जा सकता है कि कौनसा मामला किस जगह का है. मिस्र में पांच सौ से अधिक कार्यकर्ता महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं. पुरस्कार लेते हुए ब्लॉग से जुड़ी रेबेका चिआओ ने कहा, "कई पुरुष भी इस (प्रोजेक्ट) से जुड़े हुए हैं. वे इस बात से दुखी हैं कि महिलाओं को क्या क्या सहना पड़ता है."

Sherry Al-Hayek, Preisträgerin in der Kategorie Best Social Activism Campaign, The BOBs 2012

सीरिया की शेरी अल हायेक

सीरिया के फेसबुक पेज 'फ्रीरजान' को सोशल ऐक्टिविजम के सबसे अच्छे कैंपेन का पुरस्कार दिया गया. यह सीरिया की एक ब्लॉगर का फैन पेज है. रजान गजावी को ब्लॉगिंग करने के कारण कई बार हिरासत में लिया गया. पुरस्कार लेते हुए शेरी अल हायेक ने कहा, "यह पुरस्कार इस पेज के लिए नहीं है, बल्कि उन लोगों के लिए है जो इसके पीछे हैं, उस सच्ची नायिका के लिए है."

इंटरनेट के इस्तेमाल पर

बेस्ट वीडियो चैनल का पुरस्कार चीन के 'कुआंग कुआंग कुआंग' को दिया गया. इस वीडियो पोर्टल पर चीनी कलाकार वांग बो कार्टून के माध्यम से चीन की सामजिक और राजनीतिक कठिनाइयों को उजागर करते हैं.

Wang Bo, Preisträger in der Kategorie Best Video Channel, The BOBs 2012

चीन के वांग बो

बच्चों के दूध में जहर का मामला हो या जबरन कलाकार आई वई वई का मामला, वांग बो चीन में इंटरनेट के इस्तेमाल पर लगे प्रतिबंधों के बाद भी इस तरह को मुद्दों को सामने ला रहे हैं. पुरस्कार लेते हुए उन्होंने कहा कि वह एक सधारण व्यक्ति हैं और वह इसे अपनी खुशकिस्मती समझते हैं कि वह इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं और कार्टून बना सकते हैं.

शिक्षा और संस्कृति के लिए विशेष पुरस्कार माली के ब्लॉग 'फासोकन' को दिया गया.

Boukary Konaté, Gewinner Special Topic Award Education and Culture, The BOBs 2012

माली के बोकरी कोनाते

इस ब्लॉग के माध्यम से अभियान चलाने वाले बोकरी कोनाते माली में रहने वाले लोगों को इंटरनेट के इस्तेमाल की जानकारी दे रहे हैं. कोनाते सोलर सेल और कार की बैटरी से कंप्यूटर चलाते हैं. उन्होंने बताया कि जब वह साइकल ले कर गांवों में लोगों को इस बारे में जागरूक करने निकलते हैं तो लोग काफी उत्साह के साथ उनका स्वागत करते हैं.

डॉयचे वेले के 60 साल

ग्लोबल मीडिया फोरम के समापन समारोह में डॉयचे वेले के महानिदेशक एरिक बेटरमन ने कहा कि मीडिया को इस बात का ख्याल रखना है कि लोगों तक शिक्षा के अधिकार को पहुंचाया जा सके. इस साल के फोरम को एक सफलता बताते हुए उन्होंने पत्रकारों को अगले साल का भी न्योता दे दिया. 2013 में डॉयचे वेले के साठ साल पूरे हो जाएंगे. इस मौके पर ग्लोबल मीडिया फोरम का विषय होगा 'द फ्यूचर ऑफ ग्रोथ: इकोनमीज एंड मीडिया'. इस साल फोरम में सौ देशों से दो हजार से अधिक लोगों ने हिस्सा लिया.

आईबी/ओएसजे

DW.COM

WWW-Links

विज्ञापन