आइसिस से लड़ेंगे ये अनजान चेहरे | मनोरंजन | DW | 17.11.2015
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

आइसिस से लड़ेंगे ये अनजान चेहरे

फ्रेंच कंप्यूटर हैकरों का एक्टिविस्ट समूह एनोनिमस यानि अनजान एक बार फिर से सुर्खियों में है. पेरिस शहर पर हुए घातक आतंकी हमलों के जिम्मेदार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ इन अनजानों ने जंग छेड़ दी है.

यूट्यूब पर पोस्ट किए अपने वीडियो में एनोनिमस का एक सदस्य कहता है कि पेरिस में मारे गए 129 लोगों के दोषी को ऐसे ही नहीं जाने दिया जाएगा. सिर पर हुड और चेहरे पर खास तरह का मुखौटा लगाए यह हैकिंग ग्रुप का सदस्य फ्रेंच में बोलते हुए याद दिलाता है कि वे "ना माफ करेंगे और ना भूलेंगे." पेरिस हमलों के अगले दिन पोस्ट किया गया ये वीडियो दो दिन में ही लाखों बार देखा जा चुका है.

एनोनिमस हैकिंग नेटवर्क के इस वीडियो के मौलिक होने को सत्यापित नहीं किया जा सका है. यह समूह इसी तरह से खुद को पेश करता है और पूर्व में कई सरकारों और कॉरपोरेट वेबसाइटों को हैक कर चुका है. फ्रेंच साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ ओलिविए लोरेलि का मानना है कि एनोनिमस का यह ऑपरेशन पुलिस के प्रयासों से टकरा सकता है.

पुलिस और जांच एजेंसियों के लिए ट्विटर और दूसरे सोशल मीडियो पोस्ट के जरिए यह पता लगाना संभव होता है कि आईएस के लोग धरती पर कहां से कार्रवाई में लगे हैं. उनकी भौगोलिक स्थिति पता लगने से जांच को गति मिलती है. एक्सपर्ट मानते हैं कि यदि एनोनिमस के कारण आईएस अपने अकाउंट बंद कर देता है तो पुलिस जांच पर बुरा असर पड़ेगा. क्या आपको लगता है कि एनोनिमस की कार्रवाई सही है?

ऋतिका राय (एएफपी)

DW.COM

विज्ञापन