अमेरिका में टॉयलेट की छत काट कर भागे दो कैदी | दुनिया | DW | 06.11.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

अमेरिका में टॉयलेट की छत काट कर भागे दो कैदी

हत्या का आरोप झेल रहे दो अमेरिकी कैदी कैलिफोर्निया की जेल से भागने में कामयाब हो गए हैं. इन कैदियों ने टॉयलेट की छत में छेद बना कर खुद को आजाद करा लिया.

21 साल के सांतोर फोनसेका और 20 साल के जोनाथन सालाजर ने जेल की छत में  करीब 8 इंच लंबा और 22 इंच चौड़ा छेद कर दिया. इसके बाद गार्ड की नजरों से दूर एक कोने से जेल की दीवारों के पार चले गए. यह घटना रविवार शाम को सालिनास शहर में हुई. सालिनास के काउंटी शेरिफ कैप्टेन जॉन थोर्नबर्ग ने यह जानकारी दी.

जेल के भीतर दोनों कैदी मेंटेनेंस एरिया में नालियों और पाइपों से होकर पहुंच गए. इसके बाद वो एक दरवाजे तक पहुंचने और उसे खोलने में कामयाब हो गए. यहां से निकलने के बाद वो इमारत के बाहर थे. फिर वो बाहरी चारदीवारी के पास पहुंचे जहां सिर्फ कंक्रीट की दीवार थी जिसके आस पास ना तो कांटेदार बाड़ थी ना ही कोई सेंसर. यहां से वह दीवार फांद कर जेल के बाहर चले गए. 

शेरिफ जॉन थोर्नबर्ग ने कहा है, "हम उन्हें खतरनाक मानते हैं." उन्होंने लोगों से आग्रह किया है कि अगर कोई उन्हें देखे या किसी को इसके बारे में जानकारी मिले तो वह अधिकारियों को जरूर इसकी सूचना दे. जांच अधिकारी अभी यह नहीं जान सके हैं कि छत को काटने में उन्हें कितना वक्त मिला या फिर यह कि क्या किसी ने उन्हें भागने में मदद दी है. इस शहर में करीब 160,000 लोग रहते हैं जो सैन फ्रांसिस्को से करीब 160 किलोमीटर दूर दक्षिण में है. रविवार सुबह आठ बजे उनके गायब होने की जानकारी मिली.

इस जेल से पांच साल पहले भी एक कैदी फरार हो गया था. वह जेल के दूसरी सेल से हवा आने के लिए बनाए रास्ते पर चढ़ कर निकल भागा था.

फोंसेका और सालाजार पिछले एक साल से जेल में थे उन पर हत्या और कई दूसरे मामलों में बड़े आरोप हैं. फोंसेका पर 37 साल के लोरेंजो गोमेज अकोस्टा की गोली मार कर हत्या करने का आरोप है. स्थाानीय अखबार के मुताबिक अकोस्टा उस वक्त कार में बैठ कर मेक्सिको में मौजूद अपनी बीवी से वीडियो कॉल पर बात कर रहा था. उसकी बीवी ने उनके बीच हुई झड़प और अपने पति को चीखते देखा उसके बाद गोलियों की आवाज आई.

फोंसेका का कहना है कि उसके गैंग के लीडर ने उससे अपनी वफादारी साबित करने के लिए किसी की हत्या करने को कहा था. अकोस्टा को बिना किसी वजह के ही बस यूं ही चुन लिया गया था. यह घटना 2 जून 2018 की है इसके तीन दिन बाद ही फोंसेका ने 27 साल के अरनेस्टो गार्सिया क्रूज को गोली मार दी. फोंसेका के मुताबिक इस हत्या का आदेश भी उसके गैंग के सरगना ने ही दिया था.

सालाजार को 20 साल के खाइम मार्टिनेज की गोली मार कर हत्या करने के लिए गिरफ्तार किया गया था. उस वक्त वह अपनी गर्लफ्रेंड और 18 माह के बेटे के साथ कार से जा रहा था. उसकी गर्लफ्रेंड को भी गोली लगी थी और उसका इलाज किया गया लेकिन बच्चे को कोई नुकसान नहीं पहुंचा.

पुलिस की शुरुआती जांच के मुताबिक यह हत्या भी गैंग से जुड़ी थी. शेरिफ के दफ्तर ने इन दोनों के बारे में जानकारी देने वालों के लिए 5000 डॉलर के इनाम का भी एलान किया है.

 एनआर/एमजे(एपी)

__________________________

हमसे जुड़ें: WhatsApp | Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री

विज्ञापन