अफ़ग़ानिस्तान में चार जर्मन सैनिकों की मौत | दुनिया | DW | 16.04.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

दुनिया

अफ़ग़ानिस्तान में चार जर्मन सैनिकों की मौत

अफ़ग़ानिस्तान में एक नए हमले में कम से कम चार जर्मन सैनिक मारे गए हैं और कई अन्य घायल हो गए हैं. दो सप्ताह पहले तालिबान के एक हमले में कुंदूज़ में तीन जर्मन सैनिक मारे गए थे और 8 घायल हो गए थे.

जर्मन रक्षा मंत्री गुटेनबर्ग अफ़ग़ानिस्तान में हैं

जर्मन रक्षा मंत्री गुटेनबर्ग अफ़ग़ानिस्तान में हैं

जर्मन समाचार एजेंसी डीपीए की सूचना के अनुसार इन सैनिकों की मौत कुंदूज़ के निकट स्थित उत्तरी अफ़ग़ान प्रांत बाग़लान में हुई. श्पीगेल ऑनलाइन और फ़ोकस ऑनलाइन ने लिखा है कि ये सैनिक एक एंटी टैंक मिसाइल हमले में मारे गए हैं.

हमले की ज़िम्मेदारी इस्लामी कट्टरपंथी तालिबान ने ली है. तालिबान के प्रवक्ता सबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा है कि लड़ाई में एक टैंक रॉकेट हमले में नष्ट हुआ और तीन बम हमलों में. आम तौर पर तालिबान नुकसान का बढ़ा चढ़ाकर दावा करते हैं.

Afghanistan Bundeswehr Trauerfeier

गुड फ़्राइडे को हुए हमले में तीन जर्मन सैनिकों की मौत के बाद जर्मनी में इस बात पर बहस छिड़ गई थी कि क्या अफ़ग़ानिस्तान में तैनात सैनिकों का साज़ोसामान और उनका प्रशिक्षण स्थिति का सामना करने लायक है.

जर्मनी के रक्षा मंत्री कार्ल थियोडोर फॉन गुटेनबर्ग इस समय अफ़ग़ानिस्तान के दौरे पर हैं और इन्ही मुद्दों पर जर्मन सैनिकों से मुलाक़ातत कर रहे हैं. बुधवार को कुंदूज़ में जर्मन छावनी के दौरे पर उन्होंने कहा कि देश का राजनीतिक नेतृत्व सैनिकों के साथ है.

आज के हमले के समय रक्षा मंत्री गुटेनबर्ग उत्तर अफ़ग़ानिस्तान के फैज़ाबाद में स्थित जर्मन छावनी में थे. यह इलाका हमले के क्षेत्र में नहीं है. 2002 से अफ़ग़ानिस्तान में कुल 43 जर्मन सैनिक मारे गए हैं.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री

विज्ञापन