अपनी मां का मंदिर बनावाएंगे राघव | मनोरंजन | DW | 29.10.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

अपनी मां का मंदिर बनावाएंगे राघव

देवी, देवताओं के मंदिर तो बहुत लोग बनवाते हैं और जगह जगह बनवाते हैं. लेकिन भारत में एक ऐसा व्यक्ति है जो अपनी ही मां का मंदिर बनवा रहा है.

दक्षिण भारतीय फिल्मों में काम करने वाले अभिनेता और निर्माता राघव लॉरेंस अपनी मां का एक मंदिर बनाने जा रहे है. वह कहते हैं, "अपनी मां कणमणि के जीवित रहते उनका मंदिर बनवाना मेरा सपना है. मैं अपनी मां के कारण इस दुनिया में आया. मैं यह मंदिर उन सभी माताओं को समर्पित करता हूं जिन्होंने अपने बच्चों के लिए अपने जीवन का बलिदान कर दिया."

राघव अपने गृहनगर पुविरुंधावली में यह मंदिर बनवा रहे हैं. मंदिर बनाने का काम शुरू हो गया है. इस बारे में राघव लॉरेंस ने बताया, "मंदिर का निर्माण अगले साल तक पूरा हो जाना चाहिए. मैं इसका उद्घाटन भव्य समारोह के साथ करने की योजना बना रहा हूं."

लॉरेंस ने बताया कि उनकी इस मंदिर के लिए उनकी मां की मूर्ति राजस्थान में बनवाई जा रही है. फिलहाल वह दो तमिल फिल्मों में व्यस्त हैं और एक किताब लिखने की योजना बना रहे हैं. यह किताब उनकी मां पर ही केंद्रित होगी जिन्होंने राघव को बड़ा करने के लिए काफी मुश्किलें सहीं.

वैसे भारत में फिल्म एक्टरों के मंदिर बनवाने की काफी खबरें आती रहती हैं लेकिन ये मंदिर इन अदाकारों के फैंस बनवाते हैं. कोलकाता में अमिताभ बच्चन का मंदिर है तो तिरुचिरापल्ली में खुशबू का. इसके अलावा तमिल फिल्मों के सुपरस्टार रहे एमजी रामचंद्रन का मंदिर चेन्नई में है.

DW.COM

संबंधित सामग्री