अंधेरे से मुकाबले की कारगर कोशिश | मंथन | DW | 13.05.2019
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

अंधेरे से मुकाबले की कारगर कोशिश

सोचिए अगर बिजली हो ही नहीं, तो जीवन कैसा हो. सूरज ढलने के बाद ना घर में कोई बल्ब, ना कोई स्ट्रीट लाइट. एकदम गुप अंधेरा. दुनिया में आज भी बहुत से लोग इस तरह से जी रहे हैं. ब्राज़ील में एक एनजीओ लोगों की जिंदगी में रोशनी लाने की कोशिश कर रहे हैं.

वीडियो देखें 05:16

और पढ़ें