अंतरिक्ष यात्री बनने का सपना है तो यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी आपकी तलाश में है | विज्ञान | DW | 18.02.2021
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages
विज्ञापन

विज्ञान

अंतरिक्ष यात्री बनने का सपना है तो यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी आपकी तलाश में है

यूरोप बीते ग्यारह सालों में पहली बार अंतरिक्षयात्रियों की भर्ती कर रहा है. दुनिया की शीर्ष अंतरिक्ष एजेंसियों में शामिल यूरोपीय स्पेस एजेंसी की तैयारी पहले चांद और फिर मंगल ग्रह तक जाने की है.

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी को कम से कम 26 स्थायी और रिजर्व अंतरिक्षयात्रियों की जरूरत है. यह खासतौर से महिलाओं को भर्ती होने के लिए बढ़ावा दे रही है. इसके साथ ही वह ऐसे लोगों को भी अपनी टीम में शामिल करना चाहती है जो किसी तरह की शारीरिक कमी का सामना कर रहे हैं. एजेंसी का लक्ष्य अपने क्रू सदस्यों में अलग अलग तरह के लोगों को शामिल करना है.

हालांकि यह काम इतना आसान नहीं है और मंगलवार को एक न्यूज कांफ्रेंस में उसने भर्ती की इच्छा रखने वालों को आगाह भी किया कि चयन प्रक्रिया काफी कठिन होगी. 31 मार्च से अगले आठ हफ्तों तक चलने वाली चयन प्रक्रिया में पहले तो ईएसए को उम्मीद है कि बड़ी भारी संख्या में उम्मीदवार होंगे.

इसके बाद जिन उम्मीदवारों को चुना जाएगा उन्हें छह चरणों वाली कठिन चयन प्रक्रिया से गुजरना होगा जो अक्टूबर 2022 तक चलेगी. ईएसए की टैलेंट एक्विजिशन की प्रमुख लूसी वान डेर टास का कहना है, "उम्मीदवारों को मानसिक रूप से इस प्रक्रिया के लिए तैयार रहना होगा."

नई तकनीकों को अपनाने की वजह से इंसान इस लायक बन गया है कि वह शारीरिक कमियों के बावजूद अंतरिक्ष की यात्रा पर जा सके. इटली की अंतरिक्षयात्री सामंथा क्रिसटोफोरेटी का कहना है, "जब बात अंतरिक्ष यात्रा की आती है तो हम सभी एक तरह से अपंग ही हैं." आने वाले दिनों में इंसानों की अंतरिक्ष में उड़ान ऐसा लगता है नए सिरे से रंग जमाने वाली है.

कई सालों तक इंसानों के साथ अंतरिक्ष अभियानों के लिए एक ही प्रक्षेपण स्टेशन था जो कजाखस्तान के बाइकोनूर में है. स्पेस एक्स जैसी निजी कंपनियों के साथ सहयोग ने अंतरिक्ष में इंसानों वाले ज्यादा अभियानों की गुंजाइश बना दी है. सिर्फ इतना ही नहीं अमेरिका, रूस और यूरोपीय देशों के अलावा अब चीन, भारत जैसे एशियाई और खाड़ी में संयुक्त अरब अमीरात जैसे देश भी अंतरिक्ष के लिए अभियानों में खासी दिलचस्पी ले रहे हैं और पैसा खर्च कर रहे हैं. टेस्ला के मालिक इलॉन मस्क तो सीधे अंतरिक्ष में बस्ती ही बसाने के फिराक में हैं. जिस तरह से उन्होंने इंसानों को अंतरिक्ष तक भेजने में सफलता पाई है, उसे देख कर उनके सपनों पर बहुत से लोगों को भरोसा भी होने लगा है.

बहरहाल यूरोपीय स्पेस एजेंसी ने अंतरिक्षयात्री बनने का इरादा रखने वालों के लिए कुछ बुनियादी योग्यताएं तय की हैं. इनमें नेचुरल साइंस, इंजीनियरिंग, मैथेमैटिक्स या कंप्युटर साइंस में तीन साल का पोस्ट ग्रेजुएट अनुभव रखना जरूरी है. इसके बिना आवेदन करने का कोई फायदा नहीं है. क्रिस्टोफोरेटी का कहना है, "मुझे लगता है कि यह बहुत बड़ा मौका है... यह आपके लिए अपने बारे में जानने का भी अच्छा मौका है."

एनआर/आईबी (रॉयटर्स)

__________________________

हमसे जुड़ें: Facebook | Twitter | YouTube | GooglePlay | AppStore

DW.COM

संबंधित सामग्री