1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जहां से शुरू हुई थी, वहीं खत्म हुई बराक ओबामा की पारी

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने देश को विदा कह दिया है. लेकिन उन्होंने 8 साल पुराने नारे से बात खत्म की, जहां से उन्होंने अपनी पारी शुरू की थी.

मंगलवार को राष्ट्रपति ओबामा ने अपना विदाई भाषण दिया. यह एक भावुक भाषण था जिसमें बड़े बदलाव के मुहाने पर खड़े देश को जज्बाती समर्थन देने की कोशिश दिखाई दी. अमेरिकी राष्ट्रपति 20 जनवरी को सत्ता डॉनल्ड ट्रंप को सौंप देंगे.

अपने भाषण में ओबामा कभी बेहद मजबूत नजर आए तो कभी उनकी छलकती आंखों ने उन्हें एक अलग शख्सियत के रूप में पेश किया. अपने गृह नगर शिकागो में ओबामा के इस कार्यक्रम में करीब 18 हजार लोग मौजूद थे. ओबामा ने माना कि बतौर राष्ट्रपति कई समस्याएं वह हल नहीं कर पाए. उन्होंने कहा, "हां, हमारा विकास असंतुलित रहा है. लोकतंत्र के लिए काम हमेशा मुश्किल, विवादित और कई बार रक्त-रंजित भी होता है. हम जब भी दो कदम आगे बढ़ते हैं तो ऐसा लगता है कि एक कदम पीछे हटे हैं." लेकिन उन्होंने कहा कि पिछले 8 साल के अनुभव से अमेरिका में उनका यकीन और मजबूत हुआ है. उन्होंने ऐलान किया, "भविष्य हमारा होना चाहिए."

तस्वीरों में: कूल ओबामा, बिंदास ओबामा

रुमाल से आंसुओं को पोंछते हुए ओबामा ने अपनी पत्नी और बेटियों की कुर्बानियों को याद किया. जब ओबामा राष्ट्रपति बने थे तब उनकी बेटियां बच्चियां थीं जो अब युवतियों के रूप में राष्ट्रपति भवन के बाहर की दुनिया में जा रही हैं. उन्होंने अपनी पत्नी मिशेल ओबामा की तारीफ की और कहा कि उन्होंने अपनी भूमिका पूरी शालीनता, साहस, स्टाइल और संतुष्टि के साथ निभाई और व्हाइट हाउस को ऐसी जगह बनाया जो सबके लिए है.

ओबामा अपने हाथों से देश एक ऐसे शख्स को सौंपकर जा रहे हैं जिसे वह देश के भविष्य के लिए गंभीर खतरा बताते रहे हैं. चुनाव प्रचार के दौरान ओबामा डॉनल्ड ट्रंप को लेकर इतने कटु शब्द कहते रहे कि अब जब ट्रंप सत्ता संभालने जा रहे हैं तो ओबामा का यह कहना लोगों को पच नहीं रहा कि सब ठीक होगा. ओबामा ने अपने दो कार्यकालों में जो कुछ हासिल किया, मसलन हेल्थ केयर में सुधार या ईरान के साथ परमाणु समझौता आदि, उसे ट्रंप पलट सकते हैं. इसलिए जब भी यह बात उठती है कि ओबामा की विरासत क्या होगी तो जवाबों से ज्यादा सवाल होते हैं. लेकिन अपने करीब एक घंटे लंबे भाषण में अपने उत्तराधिकारी डॉनल्ड ट्रंप का जिक्र उन्होंने मामूली तौर पर ही किया. और जब उन्होंने कहा कि उनके बाद एक रिपब्लिकन उम्मीदवार सत्ता संभालेगा तो लोगों ने विरोधी स्वर में शोर किया. इस पर ओबामा ने कहा, "नहीं, नहीं, नहीं, नहीं, नहीं. हमारे देश की एक ताकत यह भी है कि सत्ता का हस्तांतरण शांतिपूर्ण तरीके से एक उम्मीदवार से दूसरे को होता है."

देखिए, टाइम के पन्ने पर हस्तियां

इससे पहले हजारों लोगों की भीड़ ने नारा लगाया, "चार साल और ओबामा." जिसके जवाब में ओबामा ने मुस्कुराते हुए कहा, "मैं ऐसा नहीं कर सकता."

लेकिन उन्होंने लोगों से कहा कि राजनीतिक रूप से सक्रिय रहें. उन्होंने कहा, "अगर आप किसी अनजान से इंटरनेट पर बहस करते रहे हैं तो अब असल जिंदगी में करें." उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों, प्रवासियों, ट्रांसजेंडर और हाशिये के अन्य लोगों के प्रति सहानुभूति ही आगे बढ़ने के लिए हमारा रास्ता हो सकती है.

ओबामा ने अपना भाषण उसी नारे के साथ खत्म किया जिसके साथ वह 8 साल पहले सत्ता में आए थे. उन्होंने कहा, "यस वी कैन." पर साथ ही उन्होंने जोड़ा, "यस वी डिड."

वीके/एके (एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री