1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

अमेरिका में मारे गए चंदन को दफनाया जाएगा

अमेरिका के न्यू यॉर्क में एक हादसे में मारे गए चंदन गवई के शव को दफनाया जाएगा क्योंकि उनकी पत्नी कोमा में हैं. चंदन के माता-पिता भी इस हादसे में मारे गए. उनका दाह संस्कार किया जाएगा.

अपने देश से दूर होने पर इन्सान के साथ किस-किस तरह की बातें होती हैं, चंदन और उनका परिवार इसकी एक मृत मिसाल बन गया है. अपने घर महाराष्ट्र से हजारों किलोमीटर दूर एक हादसे में मारे गए चंदन और उनके माता-पिता का दो हफ्ते बाद भी दाह संस्कार नहीं हो पाया है क्योंकि मामला कानूनी पेचीदगियों में फंस गया है.

अमेरिका में एक हादसे में मारे गए सॉफ्टवेयर इंजीनियर चंदन का शव वहीं दफनाया जाएगा. हादसे में घायल उनकी पत्नी अभी कोमा में हैं और अंतिम संस्कार की अनुमति नहीं दे सकतीं. इसलिए भारत सरकार के प्रस्ताव पर अमेरिकी प्रशासन चंदन के शव को तब तक के लिए दफनाएगा जब तक उनकी पत्नी होश में नहीं आ जातीं.

चंदन गवई, उनकी पत्नी और उनके माता-पिता का 4 जुलाई को ऐक्सिडेंट हुआ था. जब वे आतिशबाजी देखकर कार से लौट रहे थे तो एक ट्रक ने उन्हें टक्कर मार दी थी. 38 साल के चंदन और उनके माता-पिता की मौत हो गई थी जबकि उनकी पत्नी 32 साल की मनीषा गंभीर रूप से घायल होने के बाद कोमा में चली गईं. 11 महीने के उनके बच्चे को कोई गंभीर चोट नहीं आई जबकि टक्कर के बाद दोनों वाहनों में आग लग गई थी. ट्रक ड्राइवर की भी मौके पर ही मौत हो गई थी. हादसा न्यू यॉर्क के पास सफोल्क काउंटी के यफैंक में हुआ.

देखिए, कहां कितने विदेशी

मनीषा की चोटें भी गंभीर हैं. उनका शरीर काफी जल गया है. उनके सिर पर भी गंभीर चोटें हैं. लेकिन समस्या यह है कि उनकी अनुमति के बिना चंदन का अंतिम संस्कार नहीं किया जा सकता. परिवार मुंबई के कल्याण का रहने वाला है.

इस बारे में पहल करते हुए भारत सरकार ने अमेरिका से कहा है कि चंदन के माता-पिता का दाह संस्कार किया जाए. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर के बताया, "चंदन को दफनाया जाएगा क्योंकि उनकी पत्नी मनीषा कोमा में हैं. वही चंदन के दाह संस्कार की अनुमति दे सकती हैं." अमेरिकी कानूनों के मुताबिक किसी के शव को जलाने के लिए उसके जीवनसाथी की अनुमति जरूरी होती है.

tweet:

भारतीय विदेश मंत्री ने ट्वीट करके बताया है कि जब मनीषा होश में आ जाएंगी तो चंदन के शव का दाह संस्कार किया जाएगा. उन्होंने लिखा, "शव को तभी तक के लिए दफनाया जाएगा जब तक कि मनीषा कोमा से बाहर नहीं आ जातीं. उसके बाद चंदन का भी दाह संस्कार किया जाएगा."

ये हैं 21वीं सदी के गुलाम

DW.COM

संबंधित सामग्री