1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

डॉनल्ड ट्रंप की शपथ से पहले वॉशिंगटन में तीखी झड़पें

अमेरिका के नये राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के शपथ लेने से पहले राजधानी वॉशिंगटन की सड़कों पर ट्रंप विरोधी प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच तीखी झड़पें हुईं.

प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी की और कई इमारतों के शीशे तोड़ दिए. जवाब में पुलिस ने गैस फायरिंग करके उन्हें तितर-बितर कर दिया.

जब देश के नये राष्ट्रपति के तौर पर डॉनल्ड ट्रंप का अभिवादन करने के लिए अमेरिका के गणमान्य लोग कैपिटोल हिल पर जमा हो रहे थे, तब विरोधियों ने वॉशिंगटन की सड़कों पर प्रदर्शन किया. उनका सामना पुलिस बल से हुआ जो भारी मात्रा में तैनात था.

ज्यादातर प्रदर्शनकारी अपने हाथों में ऐसे पोस्टर और तख्तियां लिये थे जिन पर लिखा था कि ट्रंप मेरे राष्ट्रपति नहीं हैं. इन लोगों में नस्लवाद विरोधी, नारीवादी, प्रवासी-समर्थक और युद्ध विरोधी संगठनों के सदस्य शामिल थे. शुरू में यह प्रदर्शन शांतिपूर्ण था लेकिन कम से कम एक घटना ऐसी हुई जबकि काला कपड़ा पहने एक युवक भीड़ से आया और पथराव करने लगा. इस पथराव में एक बैंक की इमारत और एक रेस्तरां की खिड़कियों के शीशे टूट गए. इसके बाद पुलिस ने मिर्च स्प्रे का इस्तेमाल किया.

देखिए, ओबामा के 8 साल

प्रदर्शनकारी नो डिपोर्टेशन, नो केकेके, नो फासिस्ट यूएसए जैसे नारे लगा रहे थे. 27 वर्ष के एक युवक ने कहा ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद वह डरा हुआ है. उसने अपना नाम नहीं बताया क्योंकि उसे डर है कि उसकी कंपनी में उसके बॉस उसे परेशान कर सकते हैं. युवक ने कहा, "आप अब किसी और चीज की उम्मीद नहीं कर सकते. बस एक ही उम्मीद है कि जमीनी स्तर पर विरोध की कोशिश करनी होगी."

61 साल की एक वकील रिनी स्टाइनहागन प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए न्यू यॉर्क से वॉशिंगटन पहुंची थीं. उन्होंने कहा, "मैं उस बदलाव का विरोध करने के लिए यहां आई हूं जो बहुत जल्द नजर आने वाला है. यह सरकार किसी से भी ज्यादा कट्टर दिखती है. हम बस अपना विरोध जता रहे हैं. घर पर बैठने से तो अच्छा है."

तस्वीरों में: कितने अमीर हैं ट्रंप

उधर ट्रंप के स्वागत में उनका नाम और देश का नाम चिल्लाने वालों की भी भीड़ सड़कों पर थी. डॉनल्ड ट्रंप अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बने हैं.

वीके/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री