1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोआन ने फिर कर दी वैसी बात

तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तय्यप एर्दोआन ने कहा है कि मुसलमानों को परिवार नियोजन नहीं करना चाहिए और अपनी आबादी बढ़ानी चाहिए. यह पहली बार नहीं है जब उन्होंने इस्लामिक कट्टरपंथियों जैसी बात कही है.

तुर्की जैसे प्रभावशाली मुस्लिम देश का राष्ट्रपति अगर कोई बात कहता है तो पूरे मुस्लिम जगत में कड़ा संदेश जाता है. और इसी आधार पर गैर-मुस्लिम भी पूरे मुस्लिम समाज के बारे में अपनी राय बनाते या बिगाड़ लेते हैं. लेकिन इसकी परवाह ना करते हुए तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तय्यप एर्दोआन ने कहा है कि परिवार नियोजन मुसलमानों के लिए नहीं है.

सोमवार को एर्दोआन ने यह बयान दिया जिसे बहुत से लोग प्रगतिशीलता के खिलाफ मान सकते हैं. उन्होंने कहा कि परिवार नियोजन और गर्भ निरोधक उपाय मुसलमान परिवारों के लिए नहीं हैं. इस बयान का सीधा अर्थ मुस्लिम जनसंख्या को बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करना है.

एर्दोआन ने कहा कि यह तुर्की की मांओं की जिम्मेदारी है कि देश की जनसंख्या लगातार बढ़ती रहे. बीते सालों में तुर्की की जनसंख्या 1.3 फीसदी की दर से बढ़ी है. एर्दोआन ने कहा, "मैं एकदम साफ कहूंगा... हमें अपने बच्चों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है." इस्तांबुल में एक भाषण में उन्होंने कहा, "लोग जन्म नियंत्रण की बात करते हैं. परिवार नियोजन की बात करते हैं. ऐसी बात ना कोई मुसलमान परिवार समझ सकता है ना इसे स्वीकार कर सकता है. जैसा ईश्वर और महान पैगंबर ने कहा है, हम उसी रास्ते पर जाएंगे. और इस मामले में पहली जिम्मेदारी मांओं की है."

एर्दोआन के अपने चार बच्चे हैं. दो बेटे और दो बेटियां. इसी महीने उनकी छोटी बेटी की शादी हुई है. हथियार उद्योगपति सेलचुक बेरख्तार के बेटे से हुई एर्दोआन की बेटी समेये की शादी अपने शाहाना अंदाज और चकाचौंध के कारण सुर्खियों में रही. एर्दोआन की बड़ी बेटी की शादी युवा राजनेता और ऊर्जा मंत्री बेरात अल्बेराक से हुई है. उनके तीन बच्चे हैं.

एर्दोआन तुर्की की दक्षिणपंथी न्याय और विकास पार्टी एकेपी के संस्थापक हैं. तुर्की के उदारवादी लोग उनकी नीतियों और सरकार की काफी आलोचना करते हैं. एर्दोआन ने अपने बयानों से अक्सर नारीवादियों और महिला अधिकार कार्यकर्ताओं को नाराज किया है. सेक्स और परिवार नियोजन पर वह इस तरह की बातें पहले भी कर चुके हैं. इसी साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर एक भाषण में उन्होंने कहा था कि एक औरत सबसे ऊपर एक मां होती है. 2014 में उन्होंने जन्म नियंत्रण को राजद्रोह करार दिया था और कहा था कि इससे आने वाली पूरी पीढ़ी गायब हो जाएगी. और उनका एक बयान तो मशहूर है जिसमें उन्होंने मांओं को चार-चार बच्चे पैदा करने को कहा था. उन्होंने कहा था, "एक मतलब अकेला. दो मतलब बैर. तीन मतलब संतुलन और चार मतलब भरपूर."

तुर्की के सांख्यिकी विभाग के मुताबिक पिछले साल देश की जनसंख्या बढ़कर 7.87 करोड़ हो गई. साल 2000 में जनसंख्या 6.8 करोड़ से भी कम थी.

वीके/आरपी (डीपीए,एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री