1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी में 54 जगहों पर छापे, 'आईएस रिंगमास्टर' गिरफ्तार

जर्मन पुलिस ने बुधवार को फ्रैंकफर्ट के आसपास कई जगहों पर छापे मारे. इस दौरान इस्लामिक स्टेट को समर्थन देने और उसके लिए लोगों को भर्ती करने के संदेह में एक 36 वर्षीय ट्यूनीशियाई व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.

फ्रैंकफर्ट के मुख्य अभियोजक आलेक्जांडर बाडले ने बताया कि जर्मनी के हेसे राज्य में कुल 54 जगहों पर छापे मारे गए जिनमें अपार्टमेंट्स, व्यावसायिक संपत्तियां और दो मस्जिदें भी शामिल हैं. उन्होंने बताया कि 16 वर्ष से 46 वर्ष की उम्र के बीच के 16 लोगों के खिलाफ जांच हो रही है.

जिस ट्यूनीशियाई व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है, उस पर लोगों को भर्ती करने और उन्हें इस्लामिक स्टेट के लिए लड़ने के लिए भेजने का आरोप है. बाडले ने कहा कि इस व्यक्ति पर आतंकवादी हमले की तैयारी के तहत "समर्थक तैयार" करने का भी संदेह है, हालांकि यह तैयारी अभी बहुत सी शुरुआती चरण में थी. इस व्यक्ति पर अधिकारियों को अगस्त 2015 से ही संदेह था.

देखिए जर्मनी पर आतंक के साये

वहीं, हेसे राज्य की पुलिस के प्रवक्ता माक्स वाइस ने कहा कि चार महीनों की जांच के बाद यह गिरफ्तारी हुई है. उनका कहना है कि इन नेटवर्क को खत्म करने के लिए 150 पुलिस अधिकारियों ने "दिन में 24 घंटे" काम किया है.

इससे पहले, राजधानी बर्लिन में मंगलवार को पुलिस छापों के दौरान तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया. उन पर भी आतंकवादी गतिविधियों से जुड़े आरोप हैं. बर्लिन में 19 दिसंबर को क्रिसमस बाजार में हुए हमले में 12 लोग मारे गए थे. अधिकारियों का कहना है कि इस हमले को अंजाम देने वाले ट्यूनीशियाई नागरिक अनीस आमरी का संबंध एक मस्जिद से था. जर्मनी में हाल के सालों में कई आतंकवादी घटनाएं हुई हैं जिनके बाद अधिकारी संदिग्ध चरमपंथी नेटवर्कों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं.

एके/वीके (डीपीए, एपी)

जब बम ने खाली कराया पूरा शहर, देखिए

DW.COM

संबंधित सामग्री