1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पाकिस्तान अद्भुत देश, नवाज शरीफ कमाल के इंसान: ट्रंप

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को "अद्भुत देश" बताया है और वहां के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को "कमाल के इंसान" कह कर उनकी तारीफ की है. ऐसी जानकारी पाकिस्तान की तरफ से दी गई है.

पाकिस्तान सरकार ने एक बयान में कहा है कि ट्रंप को जीत की बधाई देने के लिए नवाज शरीफ ने फोन किया और उसी दौरान ये बातें हुई हैं. यह बयान बुधवार रात जारी किया गया और इसे लेकर सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है. कई लोग हैरानी भी जता रहे हैं क्योंकि मुसलमानों को लेकर ट्रंप के अब तक के बयान खासे विवादित रहे हैं. पाकिस्तान को लेकर 2012 में उन्होंने कहा था, यह देश "हमारा दोस्त नहीं है."

पाकिस्तानी सरकार के बयान में कहा गया है कि ट्रंप ने नवाज शरीफ ने कहा कि उनकी "साख बहुत अच्छी है." बयान में ट्रंप के हवाले से कहा गया है, "आप जबरदस्त इंसान हो. आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं और वह हर तरह से दिखाई भी दे रहा है. मुझे आपसे मिलने का इंतजार है. प्रधानमंत्रीजी, अब आपसे बात कर रहा हूं तो लगता है कि आपको बहुत लंबे समय से जानता हूं."

देखिए कितना सुंदर है पाकिस्तान..

बयान के मुताबिक ट्रंप ने कहा, "आपका देश बहुत ही कमाल का है और वहां बहुत संभावनाएं हैं. पाकिस्तानी लोग सबसे बुद्धिमान लोगों में शामिल हैं." पाकिस्तान सरकार का कहना है कि ट्रंप ने चरमपंथ समेत पाकिस्तान की बहुत सी समस्याओं को सुलझाने में मदद का वादा किया है. "मैं सभी लंबित मुद्दों को हल करने के लिए वह भूमिका निभाने को तैयार हूं, जो आप मुझसे चाहते हैं. यह निजी रूप से मेरे लिए बहुत ही सम्मान की बात होगी."

इससे पहले पाकिस्तान को लेकर सोशल मीडिया पर ट्रंप कई चुभने वाली बातें लिख चुके हैं. 17 जनवरी 2012 को उन्होंने ट्वीट किया था, "सीधी बात है: पाकिस्तान हमारा दोस्त नहीं है. हमने उन्हें अरबों अरब डॉलर दिए हैं और हमें क्या मिला? धोखा और बेइज्जती- और उससे भी बुरा. वक्त है सख्त होने का."

पाकिस्तान को भी अपने प्रतिद्ंवद्वी भारत के साथ ट्रंप की निकटता खलती रही है. ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान अमेरिका में भारतीय मूल के लोगों को लुभाने के लिए कई बातें कही थीं. चुनाव जीतने के बाद उन्होंने पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की और भारतीय उद्योगपतियों से मुलाकात की है.

इनका भी है पाकिस्तान..

पाकिस्तान अमेरिकी सहायता पर बहुत अधिक निर्भर है. उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2017 में उसे अमेरिका से आर्थिक और सुरक्षा सहायता के तौर पर एक अरब डॉलर मिलेंगे. लेकिन ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद ऐसी अटकलें लगने लगी थीं कि नवनिर्वाचित राष्ट्रपति का रुख इस बारे में क्या होगा. हालांकि पाकिस्तान सरकार के मुताबिक ट्रंप ने नवाज शरीफ से कहा है कि वह उन्हें कभी भी फोन कर सकते हैं.

वहीं सोशल मीडिया पर कई लोग ट्रंप और नवाज शरीफ की बातचीत को लेकर तंज कर रहे हैं. पत्रकार ओमर कुरैशी ने लिखा है, "लेकिन मिस्टर ट्रंप क्या आप जानते हैं कि ज्यादातर पाकिस्तानी मुसलमान हैं- वो कैसे मेधावी और समझदार हो सकते हैं? क्या आप उन्हें अमेरिका में आने से रोकोगे नहीं?"

उधर, ट्रंप की टीम ने भी नवाज शरीफ से फोन पर बात होने की बात कही है. हालांकि इस बातचीत का ब्यौरा बहुत साधारण शब्दों में इस तरह दिया गया है, "रचनात्मक बातचीत हुई कि अमेरिका और पाकिस्तान भविष्य में कैसे रिश्तों और मजबूत कर सकते हैं." इस बयान के अनुसार, "नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ट्रंप ने यह भी कहा कि वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के साथ मजबूत और लंबी साझेदारी चाहते हैं."

एके/वीके (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री