गोल्फ में लौटा वुड्स का जादू | खेल | DW | 26.03.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

गोल्फ में लौटा वुड्स का जादू

सेक्स स्कैंडल, तलाक, चोट और नई गर्ल फ्रेंड के लिए चर्चित टाइगर वुड्स दोबारा से अपने पुराने प्यार यानी गोल्फ के लिए चर्चा में आ गए हैं. सर्वकालिक महान गोल्फ खिलाड़ियों में शामिल वुड्स फिर से पहले नंबर की गद्दी पर बैठ गए.

अमेरिका के 37 साल के वुड्स ने ओरलैंडो में पामर इन्वीटेशन खिताब जीत कर यह पदवी दोबारा हासिल की. गोल्फ के खेल को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने वाले वुड्स इस खिताब के बाद खुश हैं, "यह धैर्य और कड़ी मेहनत का नतीजा है."

रिकॉर्ड लगातार 623 हफ्तों तक पहले नंबर पर रह चुके वुड्स के नाम अब 14 मेजर खिताब हो गए हैं. हालांकि लगभग तीन साल से वह नंबर एक से दूर रहे हैं. नवंबर 2011 में तो वह 58वें नंबर पर पहुंच गए थे.

करीब चार साल पहले 2009 में उनकी मुश्किलें बढ़ी थीं जब अमेरिका की एक पत्रिका ने उनके सेक्स स्कैंडल का खुलासा किया कि किस तरह शादीशुदा वुड्स एक नाइट क्लब की मालकिन के प्यार में डूबे हैं. इसके बाद उनके निजी जीवन में परेशानी शुरू हुई और कुछ ही दिनों बाद खतरनाक ढंग से कार चलाते हुए वह हादसा कर बैठे. इसी दौरान नई औरतों के साथ उनके नए रिश्ते सामने आने लगे.

वुड्स ने उसी साल दिसंबर में प्रेस कांफ्रेंस में अपने कारनामों को कबूल कर लिया. उन्होंने माना कि शादीशुदा होते हुए भी वह दूसरे औरतों के साथ रहे. उन्होंने फौरन गोल्फ से ब्रेक ले लिया और कहा कि वह अपना इलाज कराना चाहते हैं.

साल भर बाद 2010 में वह गोल्फ में लौटे लेकिन चमचमाते सितारे की तरह नहीं बल्कि धुंधले टूटे हुए तारे की तरह. पत्नी एलिन नोर्डेग्रिन ने तलाक ले लिया और कभी गोल्फ की दुनिया के बादशाह समझे जाने वाले वुड्स नाकामी की गहराइयों में गिरने लगे.

वुड्स उन दिनों को याद करते हैं, "सबसे पहला काम था सेहतमंद होना. एक बार सेहत हासिल करने के बाद मेरा खेल बदला." अभी पिछले हफ्ते ही उन्होंने इस बात का एलान किया कि उनकी जिंदगी में एक नई औरत आ चुकी है, जो खुद एक खिलाड़ी है और स्की रेसिंग की चैंपियन है, लिंडसे वॉन.

इधर वुड्स को पहले नंबर की गद्दी मिली और उधर वॉन ने ट्वीट किया, "नंबर 1 !!!!"

इस जीत के बाद वुड्स का आत्मविश्वास काफी बढ़ा है. उनका कहना है, "मुझे अब अलग रणनीति बनाने की जरूरत है."

एजेए/एमजी (एपी, एएफपी)

DW.COM

WWW-Links