1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीनी खतरे से सहमा ताइवान, युवाओं से सेना में भर्ती होने की अपील

ताइवान के रक्षा मंत्री ने अपने देश के युवाओं से ज्यादा से ज्यादा संख्या में सेना में भर्ती होने कहा है. चीन की तरफ से बढ़ते खतरे के मद्देनजर ये अपील की गई की गई है.

पिछले एक महीने में दूसरी बार, अभ्यास के लिए चीनी सैन्य विमान पिछले दिनों ताइवान के करीब पहुंच गए. ताइवान के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि चीन के दस विमान जापान के ओकिनावा में मियाको जलडमरूमध्य और ताइवान के दक्षिण में बाशी चैनल से गुजरे थे. अधिकारियों ने यह नहीं बताया है कि विमान ताइवान के कितने करीब पहुंचे गए थे लेकिन वो ताइवान के वायुक्षेत्र में दाखिल नहीं हुए थे.

यह घटना ऐसे समय में हुई है, जब अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की ताइवानी राष्ट्रपति से बातचीत पर चीन ने कड़ी आपत्ति जताई है. चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है, "एक चीन की नीति ही चीन-अमेरिका संबंधों का आधार है और आने वाले अमेरिकी प्रशासन से हम आग्रह करते हैं कि वह ताइवान के मुद्दे पर चीन की संवेदनशीलताओं को समझे." लेकिन ट्रंप ने चीन की चिंताओं का परवाह किए बिना एक इंटरव्यू में कहा है कि जरूरी नहीं कि अमेरिका वन चाइना पॉलिसी पर आगे भी अमल करता रहे. ताइवान में पिछले 60 साल से उसकी अपनी सरकार चल रही है और चीन का उस पर कोई नियंत्रण नहीं है. फिर भी, चीन ताइवान को अपना हिस्सा समझता है, जिसे एक दिन चीन का हिस्सा बनना है.

देखिए, टाइम बम जैसे विवाद

ताइवान के रक्षा मंत्री फेंग शी-कुआन ने चीन के वायुसैनिक अभ्यास को एक इत्तेफाक बताया है, लेकिन उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि ताइवान के लिए लगातार खतरा बना हुआ है. उन्होंने कहा, "चीन के कदम का जरूर कोई राजनीतिक महत्व रहा होगा." फेंग ने कहा कि ताइवान का रक्षा मंत्रालय कभी इस तरह की घटनाओं को सार्वजनिक नहीं करता है, लेकिन वह ताइवान के लिए पैदा खतरे को लेकर जागरूकता बढ़ाना चाहते हैं. उन्होंने कहा, "हम अपने लोगों को बताना चाहते हैं कि दुश्मन से हमें अब भी खतरा बना हुआ है."

देखिए, वियतनाम में चीन विरोधी प्रदर्शन

इस मौके पर फेंक ने देश के युवाओं से ताइवान की सेना में भर्ती होने को कहा, जिसमें दो लाख सैनिक हैं. जाहिर है यह चीन की 23 लाख सैनिकों वाली सेना के मुकाबले बहुत छोटी है. फेंग ने कहा, "हम आशा करते हैं कि युवा लोग भर्ती व्यवस्था के तहत सैन्य बलों में शामिल होंगे और हमारे देश की रक्षा करेंगे." ताइवान के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि चीन ने अपनी डेढ़ हजार मिसाइलें ताइवान की तरफ तैयार रखी हुई हैं.

एके/वीके (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री